ट्रॉमा सेंटर में मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा तोड़फोड़, खाली सिलिंडर लगाने का आरोप

— अस्पताल में आॅक्सीजन सिलेंडर उठाकर पटका, मौके पर पहुंची पुलिस ने शांत कराया मामला।

By: arun rawat

Published: 16 Sep 2020, 03:02 PM IST

फिरोजाबाद। थाना शिकोहाबाद क्षेत्र 21/4 लेबर कालोनी निवासी करीब 26 वर्षीय विवेक यादव पुत्र रविन्द्रनाथ यादव की तीन दिन पहले तबियत खराब हो गई थी। परिवारीजन ने प्राइवेट अस्पताल में दिखाया जहां आराम न मिलने पर ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे। यहां देखने के दौरान उसकी हालत काफी नाजुक बताई गई और इसी के साथ चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार दिया। उपचार के दौरान मरीज की मौत हो गई।

खाली सिलेंडर लगाने का लगाया आरोप
युवक की मौत के बाद परिजन आक्रोशित हो गए। उन्होंने आरोप लगाया कि मरीज को लगाया गया ऑक्सीजन सिलेंडर खाली था। परिजनों को गुमराह करने के लिए खाली सिलेंडर लगा दिया गया था। परिजनों ने सिलेंडर उठाकर जमीन पर पटक दिया और अस्पताल में अभद्रता करते हुए तोड़फोड़ भी की गई। मौके पर प्रभारी सीएमएस डॉ. आलोक कुमार भी पहुँच गए।

यह बोले सीएमएस
प्राइवेट हॉस्पिटल में पहले तो ईलाज करते हैं फिर सही उपचार न देने पर बिना किसी जांच के परिजनों को डराते हुए कोरोना का भय दिखाकर सरकारी ट्रॉमा भेजते हैं। चिकित्सक फिर भी पूरी सेवा करते हैं अब मरीज नाजुक हालत में दम तोड़ दे तो चिकित्सक का क्या दोष। सही समय पर लाते तो इलाज की कुछ और तस्वीर होती। चिकित्सक व स्टाफ सेवा कर रहे हैं। इस तरह जब चिकित्सक ही सुरक्षित नहीं रहेंगे तो फिर कैसे अपनी सेवाएं दे पाएंगे। उन्होंने जनता से अपील कि हमे सेवा का मौका दें इस तरह अभद्रता न करें। परिजन बिना पोस्टमार्टम कराए शव को घर ले गए।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned