फीफा U 17 वर्ल्ड कप: भारत के लिए बड़ी सफलता है ये पांच उपलब्धियां

PRABHANSHU RANJAN

Publish: Oct, 13 2017 05:32:56 (IST)

Football
फीफा U 17 वर्ल्ड कप: भारत के लिए बड़ी सफलता है ये पांच उपलब्धियां

घाना से हार कर भारतीय फुटबाल टीम बेशक फीफा अंडर 17 विश्व कप से बाहर हो गई है। लेकिन ये वो उपलब्धियां है, जिनपर हर भारतीय को गर्व होगा।

नई दिल्ली। फीफा अंडर 17 विश्व कप में मेजबान भारत का सफर गुरुवार को समाप्त हो गया। गुरुवार को घाना के खिलाफ खेले गए ग्रुप स्तर के अंतिम मैच में भारत को 4-0 की हार झेलनी पड़ी। इससे पहले ग्रुप स्तर के पहले दो मैचों में भारतीय टीम हार गई थी। इस हार के साथ टीम फुटबाल विश्व कप से बाहर तो जरुर हो गई, लेकिन भारत में फुटबाल के आगाज का शंखनाद हो गया। फीफा अंडर 17 विश्व कप से भारत के लिए ये पांच पोजीटिव बातें सामने आई है।

जैक्सन सिंह
आज से पांच दिन पहले तक जैक्सन सिंह को बहुत कम लोग जानते रहे होंगे। लेकिन आज जैक्सन सिंह किसी परिचय के मोहताज नहीं। कोलंबिया के खिलाफ गोल कर जैक्सन सिंह ने अपना नाम इतिहास में दर्ज कराया। जैक्सन सिंह भारत की ओर से फीफा विश्व कप में गोल करने वाले पहले खिलाड़ी बनें।

भारतीय गोलकीपर धीरज सिंह
भारत के मजबूत डिफेंस की धूरी भारतीय गोलकीपर धीरज सिंह रहे। धीरज सिंह ने अपने शानदार प्रदर्शन से यह साबित कर दिखाया कि वो दुनिया की किसी भी अटैकिंग टीम के खिलाफ गोल रोकने का माद्दा रखते हैं। धीरज सिंह के खेल से न केवल भारतीय बल्कि विदेशी खिलाड़ी और कोच भी प्रभावित दिखें।

मजबूत डिफेंस
भारतीय टीम ने अपने तीनों मुकाबलों से यह साबित कर दिया कि टीम का डिफेंस कितना मजबूत है। पहले मैच में भारत ने अमरीका जैसी अटैकिंग टीम को तीस मिनट तक गोल से महरुम रखा। जबकि दूसरे मैच में कोलंबिया को गोल के लिए 48 मिनट तक भारतीय खिलाड़ियों से जुझना पड़ा। ऐसे ही तीसरे मैच में भी भारतीय डिफेंस ने 42 मिनट तक अपने खिलाफ गोल नहीं होने दिया।

व्यापक जन समर्थन
फीफा का भारत में यह पहला आयोजन है। इस आयोजन में जिस तरह से भारतीय दर्शकों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया वो यह बताने को काफी है कि निकट भविष्य में भारत फुटबाल का स्तर बढ़ने वाला है। खास कर राजधानी दिल्ली के जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में जिस तरह से लोगों की भीड़ जुटी वह काबिल-ए-तारीफ है।

दिग्गजों के साथ भिड़ने का अनुभव
फीफा विश्व कप से भारतीय टीम को सबसे बड़ी सफलता यह मिली कि भारतीय खिलाड़ियों को दुनिया की दिग्गज टीमों के साथ दो-दो हाथ करने का मौका मिला। युवा भारतीय खिलाड़ियों के लिए यह मौका शानदार रहा। इसका फायदा भारतीय टीम को आने वाले समय में देखने को मिलेगा। जब अंडर 17 से ये खिलाड़ी भारतीय फुटबाल टीम में शामिल होकर टूर्नामेंट का हिस्सा बनेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned