FIFA WC 2018: फुटबॉल की कहानी अकबर की नानी से भी पुरानी

फुटबॉल की पहली गेंद लगभग 450 साल पुरानी उपलब्ध है, लेकिन फुटबॉल का इतिहास लगभग 3000 साल पुराना है।

By:

Updated: 06 Jun 2018, 08:32 PM IST

नई दिल्ली। फुटबॉल के शुरुआत से जुड़ी कई भाँतिया हैं। ठीक-ठीक कहना बहुत मुश्किल है कि इस खेल की उत्पति कहाँ से हुई थी। लेकिन ऐतिहासिक संदर्भों से जो तथ्य मिलते है, उसके आधार पर इस खेल को पुराने समय में युद्ध जीतने पर विरोधियों के कटे सर को किक मारने की घटना से जोड़ा जाता है। कहा जाता है उस समय विरोधियों के सर के साथ जो किया जाता था, उसी का आधुनिक रूप फुटबॉल है। तर्क यह भी दिया जाता है कि फुटबॉल मानव इतिहास का सबसे पुराना खेल है।

जब फुटबॉल का गेम हारने पर चढ़ा दी जाती थी नर बलि :

मेसो-अमेरिकन सभ्यता में आज से लगभ 3000 साल पूर्व मानव ने पहली बार गोलाकार आकृति की किसी वस्तु को खेल और मनोरंजन के लिए इस्तेमाल किया था। गोला से खेले जाने वाले इस खेल में उस समय गेंद को सूर्य के प्रतीक के रूप में देखा जाता था। तब गेंद का वजन बहुत भारी हुआ करता था। कभी-कभी तो गोलाकार पत्थर का भी उपयोग होता था। खेल दो दलों के बीच खेला जाता था। एक कप्तान होता था, जो सारे निर्णय लिया करता था। इस खेल से कई धार्मिक मान्यताऐं भी जुड़ी थी। उस समय में हारे हुए कप्तान की बलि चढ़ा दी जाती थी।

चमड़ी की गेंद में इंसानी बाल भर कर खेली जाती थी फुटबॉल:

चीन के हान साम्राज्य (करीब 2250 साल पहले) में जानवरों के चमड़े से बनी गेंद से फुटबॉल जैसा खेल प्रचलन में था, जिसे कुजू कहते थे। कुजू एक गोल गेंद से खुली मैदान में खेली जाती थी। जापान आदि देशों में भी यह खेल अलग-अलग नामों से खेला जाने लगा था । प्राचीन ग्रीस में भी इस खेल को एक अलग ही तरह की गेंद से खेला जाता था। चमड़े की गोलाकार थैली में बाल भरे जाते थे, जिससे गेंद काफी हल्का हो जाता था और किक मारने के बाद गेंद दूर तक जाती थी ।

फिर आई पहली बार हवा वाली गेंद:
सबसे पहली बार हवा भरे फुटबॉल का विवरण 7 वी शताब्दी में प्राचीन रोम में मिलता है। रोम में तब गेंद से किसी तरह के खेल को मनोरंजन के लिए नहीं खेलते थे। आर्मी की ट्रेनिंग के लिए पहली बार हवा भरे गेंदों का इस्तेमाल हुआ करता था। लेकिन इंग्लैंड में इस खेल को खेलने का तरीका कुछ अलग ही था।

अंग्रजों ने सबसे पहले क्रिकेट ही नहीं फुटबॉल भी खेला था:

जिस खेल को हम आज फुटबॉल के नाम से जानते हैं, उसका जन्म ब्रिटिश धरती पर 12 वी शताब्दी में हुआ था। यह तब इंग्लैंड की सड़कों और गलियों में खेला जाने लगा था। गेंद को बस किक नहीं मुट्ठी से भी मारते थे और कोई ख़ास नियम तब तक बने नहीं थे। हालांकि, खेल लंबे समय तक विकसित होना जारी रहा और नियमों के संबंध में अभी भी काफी लचीलापन था। एक जैसे नियम नहीं थे, पिच पर खिलाड़ियों की संख्या अलग-अलग हो सकती थी। न ही टीमों की उपस्थिति को अलग करने के लिए कोई ड्रेस कोड था। फुटबॉल क्लब 15 वीं शताब्दी के बाद अस्तित्व में आने लगे थे , लेकिन असंगठित और आधिकारिक स्थिति के बिना में उन्हें बहुत तवज्जो नहीं मिल पा रही थी । इसलिए यह तय करना मुश्किल है कि पहला फुटबॉल क्लब कौन सा था।

1824 में बनाया गया था पहला क्लब-

कुछ इतिहासकारों का सुझाव है कि यह फुटबॉल क्लब का एडिनबर्ग में 1824 में का गठन हुआ था। इससे पहले क्लबों को अक्सर पूर्व स्कूल के छात्रों द्वारा गठित किया गया था और इस तरह का पहला क्लब शेफ़ील्ड में 1855 में बनाया गया था। पेशेवर फुटबॉल क्लबों में सबसे पुराना अंग्रेजी क्लब नॉट्स काउंटी है जो 1862 में बनाया गया था जो आज भी मौजूद है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned