21 साल बाद चीन से फुटबॉल मैच खेलेगा भारत, रिकॉर्ड्स में मजबूत है चीन

भारत और चीन अब तक 17 बार एक-दूसरे के खिलाफ मुकाबला खेल चुके हैं और ये सभी मैच भारतीय जमीन पर खेले गए थे। दोनों टीमों ने अपना आखिरी मैच 21 साल पहले 1997 में नेहरु कप के दौरान कोच्चि में खेला था।

By:

Published: 20 Jul 2018, 06:29 PM IST

नई दिल्ली । भारतीय सीनियर पुरुष फुटबाल टीम इस वर्ष अक्टूबर में चीन के दौरे पर मेजबान टीम के साथ अंतर्राष्ट्रीय दोस्ताना मैच खेलेगा जो 21 साल बाद दोनों देशों के बीच पहला मैच होगा। अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि फीफा-2018 विंडो के अनुसार भारत की सीनियर टीम का अक्टूबर में चीन की टीम के साथ मैच खेलने का कार्यक्रम निर्धारित है।

चीन है रैंकिंग में आगे
फीफा-2018 विंडो के अनुसार, फीफा रैंकिंग में 97वें नंबर की भारतीय टीम 75वीं रैंकिंग की चीन की टीम के साथ मैच खेलने के लिए आठ से 16 अक्टूबर के दौरान बीजिंग दौरे पर होगी। मैच की तारीख आने वाले दिनों में तय की जाएगी। लेकिन एआईएफएफ ने शनिवार 13 अक्टूबर को मैच खेलने का प्रस्ताव रखा है। भारत और चीन अब तक 17 बार एक-दूसरे के खिलाफ मुकाबला खेल चुके हैं और ये सभी मैच भारतीय जमीन पर खेले गए थे। दोनों टीमों ने अपना आखिरी मैच 21 साल पहले 1997 में नेहरु कप के दौरान कोच्चि में खेला था। हालांकि भारत की अंडर-16 टीम ने हाल ही में चार राष्ट्रों के टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए चीन का दौरा किया था।

भारत को अब तक जीत नसीब नहीं हुई
भारत ने चीन के खिलाफ अब तक एक भी मैच नहीं जीता है। दोनों देशों के बीच खेले गए सभी 17 मैचों में से चीन ने 12 में जीत दर्ज की है जबकि पांच मैच ड्रॉ रहे हैं। हालांकि भारतीय टीम इस समय बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है। भारतीय टीम पिछले 12 मैचों से अपराजित चल रही है। एआईएफएफ के महासचिव कुशल दास ने इसे ऐतिहासिक करार देते हुए कहा, " भारत और चीन को आज के समय में विश्व की दो सबसे तेज उभरती फुटबाल बाजार के रूप में देखा जा सकता है। हमें खुशी है कि चीन की फुटबाल संस्था के साथ बात करने का हमें फायदा मिला। इस सहयोग के लिए हम उनका शुक्रिया अदा करते हैं।"

खिलाड़ियों पर कोच को भरोसा
भारतीय फुटबाल टीम के कोच स्टीफन कोंस्टेन्टाइन ने चीन के खिलाफ होने वाले मैचों पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि इससे टीम को एएफसी एशिया कप-2019 की तैयारी करने का मौका मिलेगा। कोच ने कहा, "एशियाई कप को ध्यान में रखते हुए, एक कोच के रूप में चीन जैसे प्रतिद्वंद्वी से बेहतर और कुछ नहीं मांग सकता था। मुझे उम्मीद है कि खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। चीन के खिलाफ होने वाले मैच, एशिया कप से पहले हमारे लिए एक परीक्षा होगा।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned