दिल्ली डायनामोज के साथ अपने जुड़ाव का सम्मान करते है परेरा

परेरा के ही चमकदार खेल की बदौलत दिल्ली डायनामोज ने बीते सीजन में सेमीफाइनल तक का रास्ता तय किया था।

By: Kuldeep

Published: 10 Nov 2017, 03:19 PM IST

नई दिल्ली। मार्सेलो लीते परेरा हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में एक बड़ा नाम है। यह फारवर्ड बीते सीजन में दिल्ली डायनामोज के लिए खेला था और उन्होंने 15 मैचों में 10 गोल किए थे। परेरा अब सीजन-4 में एफसी पुणे सिटी के लिए खेलेंगे। उनका कहना है कि अब उनका जुड़ाव पूरी तरह पुणे के साथ है, लेकिन वह दिल्ली के साथ अपने जुड़ाव का सम्मान करते हैं।

परेरा के ही चमकदार खेल की बदौलत दिल्ली डायनामोज ने बीते सीजन में सेमीफाइनल तक का रास्ता तय किया था। अब वह पुणे के साथ हैं और रेंको पोपोविक की टीम के प्रति पूरा समर्थन रखते हैं। पुणे सिटी को आईएसएल-4 में अपना पहला मैच 22 नवम्बर को दिल्ली डायनामोज के खिलाफ खेलना है। यह मैच परेरा के लिए भावनात्मक रूप से काफी अहम होगा।

इस मैच को लेकर परेरा ने कहा, "मैं दिल्ली के साथ अपने जुड़ाव का सम्मान करता हूं, लेकिन एक पेशेवर के तौर पर अब मेरी टीम बदल चुकी है। मेरी आस्था बदल चुकी है। हम टीमें बदलते रहते हैं और जर्सियों के प्रति हमारी आस्था बदलती रहती है। दिल्ली के खिलाफ होने वाले मैच में अगर मैं गोल करने में सफल रहा, तो अपनी नई टीम के लिए जोरदार जश्न मनाऊंगा।"

आईएसएल में एफसी पुणे सिटी का रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। पहले सीजन में वह ट्रांको कोलंबा की देखरेख में खेलते हुए 14 में से चार मैच जीत पाई थी और छठे स्थान पर रही। दूसरे सीजन में डेविड प्लाट की देखरेख में भी उसने 14 मैच खेले थे और चार मैच जीते थे। वह सातवें स्थान पर रही थी। लीग के तीसरे सीजन में उसने एंटोनियो हबास की देखरेख में 14 में से चार मैच जीते और छठे स्थान पर रही। यह वहीं हबास हैं, जिनकी देखरेख में पहले सीजन में एटलेटिको कोलकाता ने आईएसएल का खिताब जीता था।

नए सीजन में टीम को बेहतर स्थान दिलाने के लिए तैयारियों के बारे में कोच पापोविक का नजरिया स्पष्ट है। वह कहते हैं, "रिकॉर्ड मायने नहीं रखते। हम अच्छा खेल खेलने की कोशिश करेंगे। हम यह नहीं देखेंगे कि हम कितने मैच जीते। कदम-दर-कदम आगे बढ़ना हमारा लक्ष्य होगा और हमारा लक्ष्य सेमीफाइनल में पहुंचना होगा। सेमीफाइनल में हम अब तक नहीं पहुंचे हैं। हालांकि, यह हमारा अंतिम लक्ष्य नहीं होगा। हम भी फाइनल में पहुंचकर खिताब जीतना चाहेंगे। अगर टीम सेमीफाइनल तक पहुंचती है, तो मैं इसे संतोषजनक नहीं मानूंगा।"

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned