video धींगा गवर मेले में अब किसी ने तीजणियों को छेड़ा तो खैर नहीं

धींगा गवर मेले में जाने वाली जोधपुर की बहन बेटियों और बहुओं को अपनी सुरक्षा के प्रति फिक्र करने की जरूरत नहीं है।

By: M I Zahir

Published: 02 Apr 2018, 08:48 PM IST

Video Funny

video धींगा गवर मेले में अब किसी ने तीजणियों को छेड़ा तो खैर नहीं

धींगा गवर मेले में जाने वाली जोधपुर की बहन बेटियों और बहुओं को अपनी सुरक्षा के प्रति फिक्र करने की जरूरत नहीं है।

जोधपुर

धींगा गवर मेले में जाने वाली जोधपुर की बहन बेटियों और बहुओं को अपनी सुरक्षा के प्रति फिक्र करने की जरूरत नहीं है। जोधपुर परकोटे में रात को लगने वाले महिलाओं के धींगा गवर मेले के दौरान अगर किसी युवक ने किसी कन्या या महिला को छेड़ा तो
उसकी खैर नहीं है। मेले में आने वाली तीजणियां पिछले कुछ बरसों के दौरान मनचलों और सड़कछाप मजनुओं की छेड़छाड़ और बदतमीजी से बहुत परेशान थीं। इस बार वे बेफिक्र रहें। यहां की अदालत ने एेसे शरारती तत्वों पर लगाम कसने का इंतजाम कर दिया है। हाईकोर्ट ने पुलिस कमिश्नर को इस मेले के दौरान महिलाओं को सुरक्षा देने के लिए पुरुष और महिला पुलिस की ड्यूटी लगाने का आदेश दिया है।

जोधपुर पुलिस कमिश्नर के नाम आदेश जारी

राजस्थान हाईकोर्ट ने जोंधपुर परकोटे में मंगलवार शाम से पूरी रात लगने वाले महिलाओं के धींगा गवर मेले के दौरान महिलाओं की सुरक्षा के पूरे और पुख्ता इंतजाम करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने गवर माता के दर्शन के लिए रातभर विचरण करने वाली तीजणियों को छेड़छाड़ से सुरक्षित रखने के मद्देनजर जोधपुर पुलिस कमिश्नर के नाम आदेश जारी किया है।

प्रार्थना पत्र का निस्तारण

जस्टिस गोपालकृ ष्ण व्यास व जस्टिस रामचन्द्रसिंह झाला की खंडपीठ ने महेन्द्र लोढ़ा बनाम सीएस राजन अवमानना मामले में आवेदन प्रकाश जोशी की ओर से दायर प्रार्थना पत्र का निस्तारण करते हुए आदेश जारी किया है। आदेश में पुलिस कमिश्नर से जालोरी गेट से फतेह पोल तक, आडा बाजार से गिरदी कोट व सुनारों की घाटी सिटी पुलिस क्षेत्र सहित सभी 11 मोहल्लों में उचित संख्या में पुलिस अधिकारी व कर्मचारी नियुक्त करने का आदेश जारी किया है।

महिला पुलिस भी उचित संख्या में तैनात करने को कहा

आदेश में मंगलवार शाम साढे़ आठ से सुबह साढे़ चार बजे तक पुरुष पुलिसकर्मियों के साथ महिला पुलिस भी उचित संख्या में तैनात करने को कहा गया है। सरकार की ओर से कोर्ट में मौजूद एएजी राजेश पंवार के माध्यम से पुलिस कमिश्नर को जारी निर्देशों में कहा गया है कि पुलिस थानों, चौकियों के प्रभारियों से शरारती तत्वों व शराबियों की वजह से किसी भी महिला को शर्मिंदगी अथवा उत्पीडऩ सहन नहीं करना पडे़ एेसी व्यवस्था की जाए।

दो-तीन वर्ष से आ रही शिकायतें

आवेदक र्जोशी की ओर से पैरवी करते हुए अधिवक्ता अनिरुद्ध पुरोहित व मुकेश पुरोहित ने कहा कि गणगौर का पर्व पूरे देशभर में मनाया जाता है। लेकिन धींगा गवर पर्व सिर्फ जोधपुर में ही मनाया जाता है। इसमें कन्याएं व महिलाएं शिरकत करती हैं। गवर माता की 11 मोहल्लों में मूर्तियां स्थापित की जाती हैं।

प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा है

पुरोहित ने कहा कि उनके दर्शनार्थ वृत धारिणी महिलाएं पुरुष वेश में बैंत लेकर विचरण करती है। परंपरा के अनुसार रास्ते में मिलने वाले पुरुषों को ये महिलाएं बेत मारती हैं। इससे इस पर्व का नाम बैंतमार मेला पड़ गया। इसे देखने व मनाने विदेशों से भी लोग आते हैं। दो-तीन वर्ष से मेले में महलाओं से छेड़छाड़ की घटनाएं बढ़ गई हैं। इससे मेले की चमक फीकी पडऩे लगी है। प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा है।

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned