Amazon अब खुद के प्लेफॉर्म पर मुहैया करवाएगा सर्विसेज

  • कंपनी ने बताया कि उसने लगभग 75 पेटाबाइट डाटा ट्रांस्फर किया है
  • इस ऐलान के बाद क्लाउड सर्वस के कंपनियों के भी करोबार संघर्ष समाप्त होने का उम्मीद है

By: Vishal Upadhayay

Published: 17 Oct 2019, 05:20 PM IST

नई दिल्ली: अमेज़न ने ऐलान किया है कि उसने ओरेकल के डाटाबेस का इस्तेमाल पूरी तरह से बंद कर दिया है और अपने उपभोक्ता कारोबार को पूरी तरह से अपने खुद के डाटाबेस यानी एडब्लूएस (अमेज़न वेब सवस) से चलाना शुरू कर दिया है। इस ऐलान के बाद क्लाउड सर्वस के क्षेत्र की इन दोनों दिग्गज कंपनियों के बीच चल रहे कारोबारी संघर्ष के समाप्त हो जाने की उम्मीद है।

अमेज़न के क्लाउड कंप्यूटिंग विभाग यानी एडब्लूएस के प्रमुख जेफ बार ने कहा कि कंपनी को ये घोषणा करते हुए खुशी है कि डाटाबेस हटाने का काम पूरा कर लिया गया है और अमेज़न का उपभोक्ता कारोबार अब पूरी तरह ओरेकल से हटाया जा चुका है। अमेज़न ने सोमवार को देर रात यह घोषणा की।

कंपनी ने बताया कि उसने लगभग 75 पेटाबाइट डाटा ट्रांस्फर किया है। पहले ये डाटा ओरेकल के करीब 7500 अलग-अलग डाटाबेस में था लेकिन इसे अब वहां से हटाकर एडब्लूएस डाटाबेस सर्विसेज़ में शिफ्ट कर लिया गया है। इनमें अमेज़न डायनमो डीबी, अमेज़न औरोरा, अमेज़न रिलेशनल सíवस और अमेज़न रेडशिफ्ट शामिल हैं।

बार ने बताया कि ओरेकल पर जो भी अमेज़न के स्वामत्वि का डाटा था वो सेवाओं में बिना किसी रुकावट के, अपने डाटाबेस में ट्रांसफर कर लिया गया है। इसमें अमेज़न में खरीद-फरोख्त, कैटेलॉग मैनेजमेंट, ऑर्डर पूरा करने, लेखा और वीडियो स्ट्रीमिंग से संबंधित डाटा भी शामिल है।

पिछले कुछ समय से अमेज़न के उपभोक्ता कारोबार के डाटाबेस को लेकर ओरेकल और एडब्लूएस के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था। एडब्लूएस के सीईओ ऐंडी जैसी ने पिछले नंवबर में ही कह दिया था कि अमेज़न अगले साल यानी 2019 के अंत तक ओरेकल के डाटाबेस से अपना पूरा स्टोरेज हटा लेगा और इसे अपने खुद के डाटाबेस पर ले जाएगा। बार ने कहा कि समय के साथ अमेज़न ने भी ये महसूस किया कि ओरेकल के हजारों डाटाबेस के प्रबंध में काफी अधिक समय लग जाता है।

अमेज़न के उपभोक्ता कारोबार के इस डाटा ट्रांस्फर में सौ से अधिक टीमों ने काम किया। इनमें कई आंतरिक टीमों के अलावा एलेक्सा, अमेज़न प्राइम, अमेज़न प्राइम वीडियो, अमेज़न फ्रेश, किंडले, अमेज़न म्यूज़िक, ऑडिबिल, शॉपबॉप, ट्विच एंड जैपोज़ भी शामिल थीं। अमेज़न के मुताबिक डाटाबेस के इस ट्रांसफर से लागत में कमी, कार्यकुशलता में वृद्धि और प्रशासनिक दिक्कतों से छुटकारा जैसे फायदे मिलेंगे।

बार ने बताया कि इस ट्रांसफर के बाद से डाटाबेस की हमारी लागत में 60 फीसदी से अधिक की कमी आई है। दूसरे और क्लाइंट जो एडब्लूएस के डाटाबेस पर हैं, उनका भी कहना है कि उन्हें एडब्लूएस पर शिफ्ट होने से लागत में 90 फीसदी की कमी आई है। इसके अलावा उपभोक्ताओं को अमेज़न के ऐप में लगने वाले समय भी 40 फीसदी घट गया है और डाटाबेस के मैनेजमेंट पर लगने वाली लागत में भी 70 फीसदी कमी आई है।

Vishal Upadhayay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned