scriptChhattisgarh ranks second in the country in CCTNS and ICJS | सीसीटीएनएस (CCTNS) और आईसीजेएस (ICJS) में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर | Patrika News

सीसीटीएनएस (CCTNS) और आईसीजेएस (ICJS) में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर

- भारत सरकार से प्रदेश को मिला एक और राष्ट्रीय पुरस्कार
- Crime and Criminals Tracking Network and Systems (CCTNS) और आईसीजेएस (इंटर-ऑप्रेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम) (Interoperable Criminal Justice System (ICJS) में पुरस्कार

गरियाबंद

Published: December 18, 2021 06:37:05 pm

रायपुर. भारत सरकार से छत्तीसगढ़ को एक और राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। प्रदेश को सीसीटीएनएस (क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रेकिंग नेटवर्क सिस्टम Crime and Criminals Tracking Network and Systems (CCTNS)) और आईसीजेएस (इंटर-ऑप्रेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम) (Interoperable Criminal Justice System (ICJS) ) में बेहतर क्रियान्वयन के लिए देशभर में दूसरा स्थान मिला है। छत्तीसगढ़ के साथ उत्तर प्रदेश भी दूसरे नम्बर पर है। जबकि प्रथम स्थान उड़ीसा एवं तृतीय स्थान मध्य प्रदेश राज्य को प्रदान किया गया है।

ncrb.jpg

केंद्रीय गृह मंत्रालय के राष्ट्रीय अपराध रेकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) (National Crime Records Bureau (राष्‍ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्‍यूरो)) ने शुक्रवार को ट्वीटकर इसकी घोषण की है। दरअसल, नई दिल्ली में दो दिवसीय ऑनलाइन कान्फ्रेंस का आयोजन किया गया था। इसमें जिसमें देश के समस्त राज्य सम्मिलित हुए थे। आईसीजेएस योजना के अन्तर्गत फॉरेन्सिक में बेहतर क्रियान्वयन के लिए पूरे देश में छत्तीसगढ़ राज्य को दूसरा स्थान प्रदान करते हुये राष्ट्रीय पुरस्कार की घोषणा की गयी है।

बता दें कि राज्य में सीसीटीएनएस, फोरेन्सिक, कोर्ट, अभियोजन एवं जेल को डिजिटल प्लेटफार्म पर आईसीजेएस के माध्यम से आपस में इंटीग्रेशन का कार्य पूर्ण हो गया है। राज्य फोरेन्सिक प्रयोगशाला द्वारा एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन भी तैयार किया गया है, जिसके माध्यम से केस रजिस्ट्रेशन से लेकर रिपोर्ट तैयार करने तक की समस्त कार्रवाई अपलोड की जाती है। यह डेटा आईसीजेएस के अन्य स्तंभ को साझा किया जा रहा है।

प्रमुख बिंदु
16-17 दिसंबर तक आयोजित दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस में आईसीजेएस योजना के अंतर्गत फॉरेंसिक में बेहतर क्रियान्वयन हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार की घोषणा की गई, जिसमें पूरे देश में छत्तीसगढ़ को दूसरा स्थान प्रदान किया गया। वहीं प्रथम स्थान उड़ीसा एवं तृतीय स्थान मध्य प्रदेश राज्य को प्रदान किया गया।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में सीसीटीएनएस, फॉरेंसिक, कोर्ट, अभियोजन एवं जेल को डिजिटल प्लेटफार्म पर आईसीजेएस के माध्यम से आपस में इंटीग्रेशन का कार्य पूर्ण हो गया है।

राज्य फॉरेंसिक प्रयोगशाला द्वारा ई-फॉरेंसिक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन विकसित किया गया है, जिसके माध्यम से केस रजिस्ट्रेशन से लेकर रिपोर्ट तैयार करने तक की समस्त कार्यवाही अपलोड की जाती है। यह डेटा आईसीजेएस के अन्य स्तंभ को साझा कर रहा है।
भारत सरकार, गृह मंत्रालय, एनसीआरबी, नई दिल्ली द्वारा इंटर-ऑपरेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम (ICJS) के माध्यम से सीसीटीएनएस, अभियोजन, जेल, कोर्ट एवं फॉरेंसिक एवं फिंगर प्रिंट के डिजिटल डेटा को आपस में इंट्रीगेट किया जा रहा है, ताकि उक्त सभी विभागों के डाटा आपस में साझा किया जा सकें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

संसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतकोरोना ने टीका कंपनियों को लगाई मुनाफे की बूस्टरदेश में कोरोना के बीते 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा नए मामले, जानिए कुल एक्टिव मरीजों की संख्यासुप्रीम कोर्ट में 6000 NGO के FCRA लाइसेंस रद्द करने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई आजमुठभेड़ में ढेर हुआ ईनामी नक्सली कमांडरगणतंत्र दिवस के पहले अयोध्या में रेलवे दुर्घटना बड़ी साजिश, जाने पूरा मामलाMarriage की खुशियों के बीच मौत का तांडव: दूल्हा दुल्हन को ले जा रही कार ट्रक में घुसी, कई मौतें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.