एक शिक्षक के भरोसे चल रहा स्कूल, शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर व्यवस्था करने की गई मांग

Deepak Sahu

Publish: Jul, 13 2018 05:56:00 PM (IST)

Gariaband, Chhattisgarh, India
एक शिक्षक के भरोसे चल रहा स्कूल, शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर व्यवस्था करने की गई मांग

शिक्षा अधिकारी डीपी कोयरी को ज्ञापन सौंपकर तत्काल शिक्षक व्यवस्था करने की मांग की।

मैनपुर. विकासखण्ड मैनपुर के ग्राम पंचायत तुहामेटा के आश्रित ग्राम कोनारी मे एक शिक्षक के भरोसे पांच कक्षाएं संचालित हो रही है। ग्रामीण लंबे समय से शिक्षक की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन इस गंभीर समस्या की ओर अब तक ध्यान नहीं देने से नराज ग्रामीणों व स्कूली बच्चों ने सबसे पहले स्कूल भवन में ताला बंदी किया। इसके बाद पैदल 7 किलोमीटर की दूरी तय कर विकासखण्ड कार्यालय मैनपुर पहुंच जमकर नारेबाजी की।

इस दौरान विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी डीपी कोयरी को ज्ञापन सौंपकर तत्काल शिक्षक व्यवस्था करने की मांग की। ग्रामीणों को विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी ने जल्द एक शिक्षक भेजने का आश्वासन दिया। तब कहीं जाकर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ। ग्राम पंचायत तुहामेटा के सरपंच सुकलाल सोरी ने बताया कि शासकीय प्राथमिक शाला कोनारी मे 38 बच्चे अध्यनरत हैं। एक मात्र शि़क्षक पांच कक्षाओं को संचालित कर रहा है।

इससे बच्चों की पढ़ाई नहीं हो पा रही है। क्योकि एक शिक्षक हमेशा ट्रेनिंग, शासकीय कार्य मे लगा रहता है, ऐसे में वे बच्चों को कैसे पढ़ाते होंगे। सरपंच ने बताया आज सभी ग्रामीण सर्व सम्मति से स्कूल भवन मे ताला लगा दिए। उन्होंने कहा कि यह ताला तब खुलेगा जब एक और शिक्षक की व्यवस्था शासन द्वारा किया जाएगा। कमार समाज राष्ट्रीय अध्यक्ष बनसिंग सोरी ने बताया विशेष संरक्षित ग्राम पंचायत तुहामेटा कुल्हाड़ीघाट के स्कूलों में शिक्षकों की कमी लंबे समय से बनी हुई। कई बार आला अधिकारियों को भी आवेदन कर चुके हैं।

उन्होंने आगे कहा एक तरफ राज्य व केन्द्र सरकार शि़क्षा के नाम पर करोड़ा रुपए पानी की तरह बहा रही है। लेकिन जो बच्चे स्कूल में पढ़ाई करने आ रहे हैं, उनके लिए कोई सुविधा नहीं है। इस मौके पर सरपंच सुकलाल सोरी, बनसिंग सोरी, पिलेश्वर सोरी, गोपी यादव, परमानंद, शांतिबाई, लीलाबाई, परमेश्वर कुमार, गंगाबाई, नैनकुंवर, बृजलाल, कृष्णकुमार, खेमसिंग, मनोहर, लक्ष्मीबाई, तोकेश्वर, संगीता, प्रभुराम, गोपी कश्यप, हेमलाल, तीजोबाई, खुबचंद, नाथूराम, होलिका बाई आदि थे।

10 दिन के भीतर शिक्षकों की पदस्थाना
विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी मैनपुर डीपी कोयरी ने कहा अभी संविलियन की प्रक्रिया चल रही है। इसलिए स्कूलों में शिक्षकों की कमी है। हांलाकि उनकी पूरी कोशिश है, कि आने वाले दस दिनों के भीतर स्थाई रूप से शिक्षक पदस्थ कर दिए जाएंगे।

Ad Block is Banned