scriptFarmers get rich from organic farming of brinjal and wheat with Israel | खेती के दो रंग: इजराइली तकनीक से बैगन व गेहूं की जैविक खेती से किसान मालामाल | Patrika News

खेती के दो रंग: इजराइली तकनीक से बैगन व गेहूं की जैविक खेती से किसान मालामाल

पत्रिका एक्सक्लूसिव: अंबिकापुर में ग्राफ्टिंग से बैगन की हाइब्रिड खेती, जांजगीर जिले के सक्ती ब्लाक के जाजंग के पारथ का कमाल

गरियाबंद

Published: March 28, 2022 04:39:37 pm

रायपुर/ अंबिकापुर . सूरजपुर जिले के किसान वैज्ञानिक विधि से तैयार किए पौधों से सब्जी उगाकर मालामाल हो रहे हैं। इन सब्जियों में बैगन की खेती शामिल हैं, जिसके पौधे को जंगली बैगन की जड़ में तैयार किया गया है।

kheti.jpg

सूरजपुर जिले के सिलफिली और आसपास गांव के किसानों ने इस तकनीक का उपयोग किया है। वैज्ञानिक तकनीक के तहत किसान बैगन की खेती करके लाखों रुपए कमा रहें हैं। दरअसल इस तकनीक के माध्यम से तैयार पौधे की जड़ और तना जंगली बैगन का होता है। इसके ऊपर हाईब्रिड बैगन के पौधे को ग्राफ्टिंग के माध्यम से तैयार किया जाता है। फिर इन पौधो को खेत मे प्लांट किया जाता है।

ग्राफ्टेड पौधे से तैयार बैगन को सिलफिली इलााके के किसानों को बेचने नहीं जाना पड़ता है, क्योंकि किसानों के उत्पाद के देखते हुए सिलफिली सरगुजा संभाग की सबसे बडी थोक मंडी बन चुकी है। ऐसे में यहां उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, झारखंड, बिहार और ओडिशा के थोक व्यापारी मंडी में आकर ही इस बैगन की फसल को अपने प्रदेशां मे ले जाते है। इससे किसानों को अपने उत्पाद को बेचने मे कठिनाई भी नहीं होती है और अच्छी खासी आमदनी हो जाती है।

छत्तीसगढ़ ने 2017 में तकनीक को अपनाया
युवा किसान औऱ सब्जी उत्पादन के जानकार दितेश राय के मुताबिक सब्जियों मे इस तकनीक की शुरुआत सबसे पहले इजराइल देश ने की थी। देश में सबसे पहले छत्तीसगढ़ और पंजाब के किसानों ने इसे 2016-17 में अपनाया। छत्तीसगढ़ के किसानों ने इस तकनीक को 2016 में ही अपना लिया था। सिलफिली से लगे गांव गणेशपुर के किसान संजय दास इस तकनीक के इतने मुरीद हो गए हैं कि जबसे इस तकनीक के पौधे छत्तीसगढ में तैयार होने लगे हैं, वे लगातार बैगन की खेती कर रहे हैं।

एक पौधे से साल में 80 से 120 किलो उत्पादन
सिलफिली इलाके कें किसान संजय व अन्य किसानो के अनुसार ग्राफ्टेड बैगन का सिंगल व स्वस्थ पौधे से साल में औसतन 80 से 120 किलो तक का उत्पादन लिया जा सकता है। ऐसे मे अगर औसतन 20 रुपए प्रति किलो के हिसाब से एक पौधा साल में 2 हजार रुपए कमाई देता है तो एक एकड़ मे लगे 2500 पौधे से होने वाली आमंदनी का आप खुद अंदाजा लगा सकते है। लेकिन जरूरत समय पर खाद पानी और विशेष देखरेख की होती है।

जांजगीर : गेहूं की जैविक खेती से पंजाब के किसान भी पीछे
सक्ती ब्लाक के ग्राम जाजंग के किसान पारथ कुमार गबेल ने गेहूं की उन्नत किस्म की खेती कर कमाल कर दिखाया है। जैविक खेती कर न केवल प्रति एकड़ में 20 क्ंिवटल गेहूं उगाने का प्रण किया बल्कि उसने सफलता पा भी ली है क्योंकि उसके तकरीबन 600 एकड़ खेत में उन्नत किस्म श्रीराम सुपर 303 किस्म के गेहूं लहलहा रही है बल्कि आने वाले एक सप्ताह में फसल कटने लायक भी हो जाएगी। इस किसान की फसल ऐसी है जिसे कृषि वैज्ञानिक व कृषि विभाग के अधिकारी दौरे पर देखने आते हैं और खुशी व्यक्त कर किसान की मेहनत की प्रशंसा करने नहीं चूकते। किसान का मानना है कि पंजाब में अधिकतम 20 क्ंिवटल प्रति एकड़ गेहूं की फसल का रिकार्ड है लेकिन हमने यह लक्ष्य पाने के लिए अधिक मेहनत किया और लगभग लक्ष्य को पा लिया है क्योंकि पंजाब की भूमि की तासीर की तरह यहां की भूमि को भी बना रहे हैं।

जैविक खेती को बनाया रामबाण
किसान के लिए बड़ी बात यह है कि वह जैविक खेती को हथियार बनाया है। यानी खुद के बनाए वर्मी कंपोष्ट खाद का छिड़काव करते हैं। गोमूत्र, गोबर व कचरे को सड़ाकर बनाए खाद का ही इस्तेमाल करते हैं। यही वजह है कि उसके गेहूं की बालियां पांच -पांच इंच की हैं।

जाजंग के किसान पारथ कुमार गबेल ने गेहूं की उन्नत खेती कर रहा है। निश्चित ही जिले के किसानों के लिए यह प्रेरणास्रोत बने हुए हैं। अन्य किसानों को भी इनसे सीख लेनी चाहिए।
- एमआर तिग्गा, डीडीए

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलIAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.