पुराने नोटों को बदलवाने के फिराक में घुम रहे थे नक्सली समर्थक, पुलिस ने दबोचा

पुराने नोटों को बदलवाने के फिराक में घुम रहे थे नक्सली समर्थक, पुलिस ने दबोचा
4 naxal supporter arrested

deepak dilliwar | Updated: 21 Dec 2016, 01:02:00 AM (IST) Gariaband, Chhattisgarh, India

नोटबंदी के बाद से ही नक्सली अपने छिपाए धन को सहयोगियों के जरिए नोट बदलवाने के लिए जुट गए हैं, जिसका खुलासा बीते 9 दिसंबर को मैनपुर बड़ेगोबरा में हुई पुलिस व नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद जब्त किए गए सामानों से मिली हिसाब की डायरी से हो गया था

गरियाबंद/मैनपुर. नोटबंदी के बाद से ही नक्सली अपने छिपाए धन को सहयोगियों के जरिए नोट बदलवाने के लिए जुट गए हैं, जिसका खुलासा बीते 9 दिसंबर को मैनपुर बड़ेगोबरा में हुई पुलिस व नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद जब्त किए गए सामानों से मिली हिसाब की डायरी से हो गया था, जिसमें नक्सलियों ने अपने आय के स्रोत के साथ ही नोट बदलने किसे कितने पैसे दिए गए हैं, इसका उल्लेख किया गया था। इस आधार पर मैनपुर पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी युवक को गिरफ्तार किया और 4 लाख रुपए बरामद किए।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस के गिरफ्त में आए नक्सली सहयोगी रोहित नाग पिता बुधराम नाग (37) ग्राम ठेनही, मेचका थाना धमतरी निवासी, जो वन विभाग में तेन्दुपत्ता प्रबंधक अशासकीय कर्मचारी के रूप में कार्य करता था। उसे क्राइम ब्रांच ने सोमवार को सांकरा व तुमड़ीबहरा स्थित ठिकानों में दबिश देकर 4 लाख के पुराने नोटों के साथ पकड़ा। आरोपी को धारा 147, 148, 149, 307 भदवि 25, 27 आम्र्स एक्ट 16, 23 विधि के विरूद्ध कर कलाप निवारण अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। विदित हो कि तेन्दूपत्ता प्रबंधक होने के चलते इन पैसों को ग्रामीणों के खाते में जमा करवाकर नए नोट में बदलने की आरोपी की योजना थी, इस सब गतिविधियों को देखकर पुलिस ने पकड़ा और पुछताछ में आरोपी ने नक्सली के रुपए होने की बात स्वीकार कर ली है।

इस कार्रवाई में एससी जितेन्द्र सिंह मीणा के निर्देश व एएसपी नक्सल ऑपरेशन एल डेविड, एएसपी नेहा पांडेय के मार्गदर्शन में और एसडीओपी मैनपुर राहुल देव शर्मा के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच उप निरीक्षक सचिन सिंह, नरेन्द्र साहू, संजय मरावी, अंगद राव, सताउ राम नेताम, जय प्रकाश मिश्रा, दिप्तनाथ प्रधान, सीआर ठाकुर सहित आदि की भूमिका रही।

ऐसे हुआ खुलासा
एडिश्नल एसपी नेहा पाण्डेय और एसडीओपी राहुल देव शर्मा ने बताया कि 9 दिसम्बर को मैनपुर ब्लॉक के सुपा डोगरी में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में माओवादी अपनी सामाग्री छोड़कर भाग गए थे, जिसमें नक्सली की डायरी पुलिस के हाथ लगी थी। इसमें कुछ लोगों के नाम दर्शाए गए थे और नक्सलियों के आय के स्रोत की जानकारी डायरी में थी। इसमें उन लोगों के नाम भी थे, जिन्हें नक्सलियोंं ने नोटबंदी के चलते नोट बदलवाने को दिए थे। इसमें एक नाम रोहित नाग का भी था, रोहित नाग के बैंक खातों के ट्रांजेक्शन के आधार पर आरोपी रोहित तक पहुंचे और उसके सांकरा स्थित निवास से 3 लाख और तुमड़ीबहरा स्थित पान ठेले से एक लाख नकद बरामद किया गया। वहीं बरामद डायरी की अभी भी विवेचना की जा रही है, जिससे भविष्य में बड़े खुलासे होने की बात कही गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned