दो साल से नहीं मिला 65 ग्रामीणों को मनरेगा की राशि, बहिष्कार की दी चेतावनी

दो साल से 65 ग्रामीणों को मनरेगा की राशि का भुगतान नहीं हो पाया है ।

By: Deepak Sahu

Published: 30 Dec 2018, 04:29 PM IST

देवभोग/गरियाबंद. दो साल से 65 ग्रामीणों को मनरेगा की राशि का भुगतान नहीं हो पाया है, ऐसे में राशि नहीं मिलने से ग्रामीणों ने मनरेगा के काम के बहिष्कार की चेतावनी दी है। मामला डोहेल पंचायत के झाराबाहाल गांव का है। जहां के 65 ग्रामीण आज भी दो साल पहले किए गए मनरेगा के कार्यों के भुगतान के लिए सरपंच और सचिव के चक्कर लगाने को मजबूर हैं। भुगतान नहीं मिलने से नाराज चल रहे ग्रामीण गौतम, प्रर्मिला, खिन्द्रेबाई और कमलधर की माने तो उन्हें पिछले दो साल से अब तक मनरेगा के तहत सडक़ में किए गए कार्यों की राशि नहीं मिल पाई है।

ग्रामीणों ने बताया कि पिछले दो साल से हर दिन सरपंच और सचिव से मिलकर राशि के विषय में जानकारी मांगी जाती है, लेकिन आज तक उनका जवाब गोलमोल ही रहा है। ऐसे में नाराज ग्रामीणों ने सोमवार को एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर मंगलवार से कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने की चेतावनी सरपंच और सचिव को दे डाली है।

मनरेगा के कार्यों का करेंगे बहिष्कार
गांव की मजदूर महिला प्रर्मिला और खिन्द्रेबाई ने बताया कि मजदूरी भुगतान नहीं मिलने के चलते गांव के झाराबाहाल के सभी ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि अब गांव में होने वाले किसी भी मनरेगा के काम में हिस्सा नहीं लेंगे। ग्रामीणों ने मामले में सरपंच देवकी यदु और सचिव महेन्द्र ठाकुर से मिलकर साफ कर दिया है कि किसी भी स्थिति में अब ग्रामीण मनरेगा का काम करने को तैयार नहीं होंगे। झाराबाहाल के पुस्तम और शोभा ने बताया कि उन्हें मनरेगा में किए गए कार्यों का भुगतान नहीं मिलता, ऐसी में उनकी मजबूरी बन जाती है कि वे बाहरी राज्य जाकर पैसे कमाकर अपने परिवार वालों का पालन-पोषण करें।

रोजगार सहायक पर की जा चुकी है कार्रवाई
ग्रामीणों ने बताया कि मामले में पहले ही रोजगार सहायक पर कार्रवाई की जा चुकी है। ऐसे में उस दौरान ग्रामीणों को उम्मीद थी कि उन्हें उनका मजदूरी भुगतान मिल जाएगा। ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष 2016-17 में डोहेल पंचायत में मेन रोड से जीवनलाल के खेत तक, टिकेलाल के घर से गजेन्द्र के घर तक और मूंगिया मेन रोड से हीराराम के खेत तक मनरेगा के तहत् स्वीकृत तीन सडक़ का काम किया गया था, ऐसे में आज लगभग दो साल बीतने को है, लेकिन आज तक राशि नहीं मिल पाने से मजदूरों में अधिकारियों के प्रति अब भरोसा उठ गया है।

देवभोग के जनपद पंचायत सीईओ मोहनीश आनंद देवांगन कि मामले में सरपंच और सचिव से जानकारी ली जा रही है, जल्द ही इस मामले में उचित कदम उठाते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।


डोहेल ग्राम पंचायत सचिव महेन्द्र ठाकुर ने बताया कि मुझे करीब 65 मजदूरों ने अवगत करवाया है कि उन्हें उनका मजदूरी भुगतान अब तक नहीं मिल पाया है। मामले की जानकारी अधिकारियों को दूंगा।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned