हाइवा से हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने एएसआई को पीटा, आठ लोग गिरफ्तार

एएसआई पर हमले के आरोपी आठ ग्रामीणों को पुलिस ने शनिवार शाम गिरफ्तार कर लिया, जबकि शेष आरोपियों की धरपकड़ तेज कर दी गई है।

By: Deepak Sahu

Published: 25 Nov 2018, 09:00 PM IST

नवापारा-राजिम. समीपस्थ ग्राम सुंदरकेरा में एएसआई पर हमले के आरोपी आठ ग्रामीणों को पुलिस ने शनिवार शाम गिरफ्तार कर लिया, जबकि शेष आरोपियों की धरपकड़ तेज कर दी गई है। आरोपियों में सरपंच पति नत्थूराम पिता फगुवाराम साहू (46), हरिराम पिता खुमान साहू (38), मनोज पिता चंद्रिका साहू (28), खेलू पिता हरिराम पटेल (27), चन्द्रहास पिता फगुवाराम साहू (36), श्रीराम पिता रामनारायण साहू (28), सोमनाथ पिता मनोहर साहू (34), रघुवर पिता घोण्डुल साहू (58), नारायण पिता लक्ष्मण साहू (27) आदि शामिल हैं, जो सुंदरकेरा के ही रहने वाले हैं।

इन सभी के विरूद्ध आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 186, 294, 332, 353, 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपियों को पकडऩे के लिए रायपुर से भी पुलिस बल बुलाया गया था। टीआई रमेश मरकाम पुलिस बल के साथ 5 गाडिय़ों में शनिवार दोपहर सुंदरकेरा पहुंचे और एक-एक कर आरोपियों को पकडक़र गाडिय़ों में बिठाना शुरू किया। लगभग 1 घंटे के भीतर 8 आरोपियों को पकडक़र थाना ले आये और जरूरी कागजी औपचारिकताएं पूर्ण करने में लग गए। 1 आरोपी को रायपुर से बुलाकर गिरफ्तारी की गई।

टीआई रमेश मरकाम ने बताया कि रात हो जाने के कारण आरोपियों को जेल भेजना मुनासिब नहीं है, इसलिए कल इन्हें जेल भेजा जाएगा। बता दें कि 22 नवम्बर को ग्राम सुंदरकेरा में हुई एक सडक़ दुर्घटना के बाद सूचना मिलने पर पहुंचे थाना गोबरा नवापारा के एएसआई शिवकुमार साहू जब आरोपी हाईवा चालक को थाने ले जाने लगे, तो ग्रामीणों ने उनसे आरोपी को उनके हवाले करने की मांग की, जिसे कानून का हवाला देते हुए साहू द्वारा इंकार कर दिया गया। इससे आक्रोशित लगभग दर्जनभर ग्रामीणों ने एएसआई साहू के साथ हाथ मुक्के और पत्थर से मारपीट की थी, जिससे उनका सिर फट गया था।

बाद में उन्हें सिर पर 3 टांके लगाने पड़े थे। इस घटना के बाद एसपी के निर्देश पर थाना गोबरा नवापारा, अभनपुर और राखी थाने सहित 112 का पुलिस बल सुंदरकेरा पहॅुंचा था और लाठिया लहराते हुए स्थिति को नियंत्रित किया गया था। उसी रात इस घटना के जिम्मेदार लगभग दर्जन भर नामजद और अन्य आरोपियों के विरूद्ध आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत् अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया था।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned