Journalist Vikram Joshi murder case: 14 दिन में 600 से ज्यादा छापेमारी के बाद 10वां आरोपी गिरफ्तार

Highlights

- Journalist Vikram Joshi murder case में गाजियाबाद पुलिस का सख्त रुख

- Ghaziabad पुलिस ने 25 हजार के इनामी आरोपी आकाश बिहारी को किया गिरफ्तार

- पुलिस ने 14 दिन में 600 से अधिक ठिकानों पर छापेमारी के बाद किया गिरफ्तार

By: lokesh verma

Published: 05 Aug 2020, 01:36 PM IST

गाजियाबाद. पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड ( Journalist Vikram Joshi murder case ) में पुलिस ने 10वें आरोपी आकाश बिहारी को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि आकाश बिहारी पिछले दो सप्ताह से फरार चल रहा था। पुलिस के अनुसार, वारदात से पहले आकाश ने ही रेकी की थी और वारदात के दौरान वह चौराहे पर खड़े होकर आने-जाने वाले लोगों पर नजर रख रहा था। गाजियाबाद पुलिस ( Ghaziabad Police ) इस हत्याकांड में 9 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

यह भी पढ़ें- सहारनपुर के बीसीएफ जवान की पश्चिम बंगाल में हत्या

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि आकाश बिहारी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस 14 दिन से लगातार ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी। पुलिस ने इस दौरान 600 से अधिक ठिकानों पर दबिश दी गई थी। उन्होंने बताया कि आरोपी आकाश बिहारी की गिरफ्तारी के साथ अब जांच अधिकारी को तेजी से जांच के बाद जल्द चार्जशीट पेश करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी सिटी और सीओ प्रथम को जांच की निगरानी के लिए कहा गया है, ताकि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिल सके।

दरअसल, 16 जुलाई को पत्रकार विक्रम जोशी ने अपनी भांजी से छेड़छाड़ के मामले में पुलिस से शिकायत की थी। इसके बाद आरोपियों ने 20 जुलाई को विक्रम जोशी को उस समय गोली मार दी थी, जब वह अपनी बेटियों के साथ घर जा रहे थे। इस जानलेवा हमले के दो दिन बाद यानी 22 जुलाई की सुबह विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। हत्याकांड के सुर्खियों में आने और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) के संज्ञान लेने के बाद पुलिस ने वारदात के 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इसके साथ ही विक्रम जोशी की शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने वाले चौकी प्रभारी को भी निलंबित कर दिया है। इस मामले की जांच सीओ प्रथम को सौंपी गई है।

आकाश बिहारी पर घोषित किया था 25 हजार रुपए का इनाम

विक्रम जोशी की हत्या के मामले में फरार आरोपी आकाश बिहारी पर पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। आकाश पर आरोप है कि उसने ही हत्या से पहले रेकी की थी। पुलिस ने आकाश बिहारी की गिरफ्तारी के लिए कोर्ट से गैर जमानती वारंट भी लिए थे। इसके बाद पुलिस ने आकाश बिहारी की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी की थी।

यह भी पढ़ें- लव मैरिज के दो महीने बाद ही पति-पत्नी ने एक साथ पंखे से लटककर किया सुसाइड

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned