अवैध रूप से रह रहे विदेशियों के लिए योगी सरकार ने बनाया पहला डिटेंशन सेंटर, जानिये ख़ासियत

Highlights

-उत्तर प्रदेश में अवैध रूप से रह रहे विदेशियों के लिए गाजियाबाद में देश का 12 वां डिटेंशन सेंटर बनकर हुआ तैयार

-अक्टूबर में हो सकती है शुरुआत

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Sep 2020, 06:28 PM IST

ग़ाज़ियाबाद।उत्तर प्रदेश में अवैध रूप से रह रहे विदेशियों के लिए गाजियाबाद में डिटेंशन सेंटर बनकर तैयार हो चुका है। उम्मीद है कि अक्टूबर में इसकी शुरुआत हो जाएगी। देश में अभी तक कुल 11 डिटेंशन सेंटर चलाए जा रहे हैं और 12 वां डिटेंशन सेंटर गाजियाबाद के नंद ग्राम में बनाया गया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह डिटेंशन सेंटर सभी सुविधाओं से लैस होगा और एकदम खुली जेल की तरह होगा और इस डिस्टेंशन सेंटर में 100 लोगों को रखे जाने का इंतजाम किया गया है। प्रशासनिक अधिकारियों ने सभी मुख्य बातों को ध्यान में रखते हुए यहां का दौरा भी कर लिया है और सुरक्षा की दृष्टि से भी स्थानीय पुलिस को यह सौंपा जा चुका है।

गाजियाबाद के नंद ग्राम मे दलित छात्र छात्राओं के लिए अलग-अलग दो अंबेडकर छात्रावास प्रशासन द्वारा बनाए गए थे। दोनों छात्रावास की क्षमता 408 छात्र-छात्राओं की है और यह जनवरी 2011 में बनकर तैयार हो गया था और इसकी शुरुआत भी 15 जनवरी 2011 को ही कर दी गई थी। यह छात्रावास पूरी सुविधाओं से लैस बनाया गया था। लेकिन काफी समय से यह छात्रावास बंद है ।इतना ही नहीं इसकी देखरेख ना होने के कारण भी यह जर्जर हालत में हो चुका था। योगी सरकार के आने के बाद बंद पड़े इस छात्रावास की सुध ली गई और इस छात्रावास को डिटेंशन सेंटर बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया था। जिसे केंद्र सरकार द्वारा स्वीकार करते हुए इस छात्रावास को डिटेंशन सेंटर में तब्दील कर दिया गया।

साथ ही प्रदेश सरकार के प्रस्ताव पर केंद्र सरकार द्वारा जारी बजट पर इसकी मरम्मत सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मेरठ की एजेंसी को ठेका दिया गया था। फिलहाल डिटेंशन सेंटर में सभी सुविधाओं का ध्यान रखते हुए यहां पर पूरा निर्माण करा दिया गया है और अब खुली जेल की तरह यहां पर 100 विदेशियों को रहे जाने की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा की दृष्टि से भी यहां की पूरी जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस को सौंपी गई है। उम्मीद है कि अक्टूबर में इसकी शुरुआत हो सकती है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned