यूपी के इस जिले में तैयार होंगे 15 हजार ऑक्सीजन सिलेंडर, लोगों को भी मिलेगा रोजगार

Highlights

-ज़िलाधिकारी ने मौके का किया निरीक्षण

-20 सितंबर से कार्य होगा शुरू

By: Rahul Chauhan

Published: 10 Sep 2020, 04:56 PM IST

गाजियाबाद। जनपद में ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार करने के संबंध में जनपद में ऐतिहासिक कार्य होगा। जिसके चलते 15000 अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार करने की इकाई का जनपद में जल्द ही शुभारंभ हो जाएगा।

जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने मौके पर पहुंचकर संबंधित इकाई का किया स्थल निरीक्षण 20 सितंबर से संबंधित इकाई में कार्य शुरू कराने के संबंध में संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।

जनपद में तथा प्रदेश में प्रतिदिन 15000 अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति किए जाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पाण्डेय द्वारा भोजपुर ब्लॉक में स्थापित होने वाली औद्योगिक इकाई आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड का स्थलीय निरीक्षण किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी अजयशंकर पांडेय ने बताया कि जनपद में आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड अमेरिका की कंपनी की 50% सहभागिता के साथ जनपद में स्थापित की जा रही है। जो कि प्रतिदिन 15000 ऑक्सीजन सिलेंडर योग्य ऑक्सीजन का उत्पादन करेगी । यह प्रदेश की सबसे बड़ी ऑक्सीजन उत्पादक इकाई होगी।

इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड तथा तकनीकी टीम लिंडे पी टी एल साथ बैठक भी की गई एवं स्थानीय समस्याओं का निराकरण कराया गया। निरीक्षण के समय इकाई की तकनीकी टीम के साथ तहसीलदार मोदीनगर भी उपस्थित रहे। मौके पर जिलाधिकारी द्वारा तकनीकी टीम को यह निर्देश दिए गए कि कंपनी के प्रबंध निदेशक से उनकी वार्ता हो चुकी है।

इसलिए कार्य में तेजी लाते हुए पूर्व निर्धारित तिथि के पहले ही 20 सितंबर 2020 तक इकाई में उत्पादन प्रारंभ किया जाये। इकाई के संबंध में जानकारी प्राप्त करने पर तकनीकी टीम द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त संयंत्र उच्च श्रेणी का संयंत्र है।उन्होंने बताया कि जिसको चार अलग-अलग मोड में संचालित किया जा सकता है। डिजाइन कैपेसिटी मोड में संचालित करने पर जहां 149 टन ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।वहीं इकाई को ऑक्सीजन मोड में संचालित करने पर 170 टन प्रतिदिन ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।

उल्लेखनीय है कि इकाई द्वारा प्रदेश सरकार के साथ एमओयू हस्ताक्षरित किया गया था एवं इकाई ने जनवरी 2019 से निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया था। इकाई में लगभग रुपए 110 करोड़ का पूंजी निवेश किया गया है जिसमें 60 से 70 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। निरीक्षण के समय साथ में उपस्थित उपायुक्त उद्योग को जिलाधिकारी द्वारा इकाई की तकनीकी टीम प्लांट हेड तथा प्रबंध निदेशक के साथ दैनिक आधार पर समन्वय स्थापित करते हुए इकाई को निर्धारित तिथि से पूर्व संचालित कराए जाने हेतु निर्देश दिए गए। कोरोना काल में ऑक्सीजन उत्पादन इकाई प्रारंभ होने से जनपद सहित प्रदेश को ऑक्सीजन की उपलब्धता से संबंधित बहुत बड़ी राहत मिलेगी।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned