Lockdown 4.0: राशन बांटने को लेकर आम आदमी पार्टी के सांसद और भाजपा में मची तकरार

. आम आदमी पार्टी पर भाजपा ने लगाया दिल्ली से मजदूरों को निकालने का आरोप

. सांसद बांट रहे थे गरीबों को राशन

By: virendra sharma

Updated: 23 May 2020, 04:11 PM IST

गाजियाबाद। मजदूरों को उनके घर भेजने को लेकर कांग्रेस और भाजपा में तकरार दिखाई दी थी। यह मामला अभी भी शांत नहीं हुआ है। जनपद के मोदीनगर इलाके में आम आदमी पार्टी के सांसद और भाजपा विधायक के बीच रस्साकशी सामने आई है। मोदीनगर विधानसभा में आम आदमी पार्टी के सांसद एवं प्रदेश प्रभारी संजय सिंह और विधायक दिलीप पाण्डेय गिन्नी देवी कॉलेज में जरूरत मंद परिवारो को राहत सामग्री बांटने पहुँचे। जैसे ही यह सूचना स्थानीय भाजपा विधायक मंजू सिवाच को मिली तो वे भी मौके पर पहुंच गई। आरोप है कि विधायक मंजू सिवाच के लिए कॉलेज का गेट नहीं खुलने दिया गया। वहां खाद्य सामग्री बांटे जाने का विरोध किया गया। जिसको लेकर उनके बीच हॉट टाक भी हुई। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को ट्वीट भी कर डाला और दिल्ली एनसीआर की राजनीति गरमा गई है।

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा कि मोदीनगर विधायक मंजू सिवाच के एरिया में खाना बाँटना अपराध हो गया है। उन्होंने बताया कि मोदीनगर में गरीब मजदूरों को राशन मुहैया कराने गए थे। जैसे ही मंजू सिवाच को इसकी जानकारी मिली तो मौके पर पहुंच गई। उन्होंने राशन बांटने का विरोध किया। संजय सिंह का कहना है कि उन्होंने कॉलेज का गेट भी नहीं खोलने दिया और इस बात को लेकर उनका पारा चढ़ गया। उन्होंने कहा कि महिला विधायक होने के नाते बहस करना उचित नहीं समझा। जबकि स्थानीय लोगो ने ही विधायिका को घेर लिया और उनसे मोदीनगर के कार्यों को लेकर हिसाब किताब करने लगे तो विधायिका अपने पार्टी के लोगों के साथ भाग खड़ी हुई। जिस तरीके से उत्तर प्रदेश में झूठी व्यवस्थाओं का प्रचार हो रहा है। संजय सिंह का कहना है कि खाने-पीने और राशन वितरण में काफी धांधली हो रही है। उन्होंने बताया कि मंजू सिवाच को उनका वहां पहुंचना नागवार गुजरा। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में कहां लिखा है कि जिसकी सत्ता है, वहीं लोगों की मदद कर सकते है। संजय सिंह का आरोप है कि भाजपा नेताओं की यह हरकत भाजपा की गरीब विरोधी मानसिकता की पोल खोलती है।

sanjay.jpg

भाजपा विधायक मंजू सिवाच का कहना है कि वह किसी भी हालत में राजनीति नहीं होने देंगी। आम आदमी पार्टी को गरीब और असहाय लोगों की मदद करनी थी तो उन्हें दिल्ली में ही करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी मदद करना चाहती है तो लाखों प्रवासी मजदूरों को दिल्ली से जाने नहीं देना चाहिए था। मंजू सिवाच ने कहा कि बड़ी संख्या में दिल्ली में रह रहे लोगों को दिल्ली से निकालकर गाजियाबाद यानी उत्तर प्रदेश में भेज दिया गया। यूपी सरकार मजदूरों के लिए खाने-पीने से लेकर उन्हें सुरक्षित पहुंचाया जा रहा है। मंजू सिवाच का कहना है कि आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह राशन बांटकर यह दिखाना चाहते है कि भाजपा गरीबों को राशन मुहैया नहीं करा रही है। उन्होंने कहा कि तुच्छ राजनीति नहीं होने देंगी। दोनों नेताओं में तीखी नोकझोंक हुई तो संजय सिंह को वहां से वापस लौटना पड़ा।

virendra sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned