scriptafghanistan crisis iaf c17 aircraft arrived from kabul to hindon | Afghanistan Crisis: काबुल से 168 यात्रियों को लेकर हिंडन पहुंचा C-17, भारत की जमीं पर पैर रखते ही रोने लगे अफगानी सांसद | Patrika News

Afghanistan Crisis: काबुल से 168 यात्रियों को लेकर हिंडन पहुंचा C-17, भारत की जमीं पर पैर रखते ही रोने लगे अफगानी सांसद

Afghanistan Crisis: भारतीय मूल के अफगानी सांसद नरेंद्र सिंह खालसा बोले- जीवन के 20 साल में जो किया, वह सब खत्म हो गया।

गाज़ियाबाद

Published: August 22, 2021 04:15:45 pm

गाजियाबाद. Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद तमाम अफगानी नागरिक (Afghan Citizens) दूसरे देशों में शरण ले रहे हैं। जबकि भारतीय और अफगानियों को भी देश लाने की कवायद चल रही है। इसी कड़ी में रविवार सुबह भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) का विमान सी-17 ग्लोबमास्टर 168 यात्रियों को सुरक्षित लेकर हिंडन एयरबेस (Hindon Airbase) पहुंचा है। हालांकि उनके पहुंचने से पहले ही परिवार के अन्य लोग हिंडन एयर बेस कैंप के बाहर उनका इंतजार कर रहे थे। काबुल (Kabul) से पहुंचे परिवार के सदस्यों देख सभी की आंखें खुशी से नम हो गईं। इन यात्रियों में 107 भारतीय और अन्य अफगानी नागरिक थे।
ghaziabad2.jpg
काबुल से सी-17 विमान में आए इन यात्रियों के बीच भारतीय मूल के अफगानी सांसद नरेंद्र सिंह खालसा (Afghanistan MP Narendra Khalsa) और उनके परिवार के लोग भी शामिल थे। ये लोग उन यात्रियों में शामिल रहे, जिन्हें शनिवार को काबुल एयरपोर्ट से तालिबानी सैनिकों के साथ ही ले जाया गया था और उन्हें कहा गया था कि वे देश नहीं छोड़ सकते हैं। क्योंकि वह अफगानी हैं। अफगानी सांसद नरेंद्र सिंह खालसा वहां के हालात के बारे में बताते समय बेहद दुखी नजर आ रहे थे और भावुक होकर रोने लगे। उन्होंने कहा कि अपने जीवन में जो भी 20 साल में किया था, वह सब खत्म हो चुका है। उन्होंने कहा कि जिस वक्त विमान काबुल से चला तो उसमें अफगान का एक बच्चा भी शामिल था, जिसके पास भारतीय पासपोर्ट नहीं था, लेकिन भारत सरकार ने उसे भी नहीं रोका। क्योंकि वह बच्चा अपनी मां की गोद में खेल रहा था।
यह भी पढ़ें- मुनव्वर राणा के सुर, कहा- तालिबान जंगली कौम और हिंदुस्तान एक मुल्क

तालिबान ने हमारे घर जला दिए

अफगान से आई एक बुजुर्ग महिला ने बताया कि वह अपनी बेटी और दो पोते-पोतियो के साथ भारत आई हैं। वह तालिबान की क्रूरता देखकर बेहद दुखी हैं, क्योंकि तालिबान ने उनके घर जला दिए हैं। उनके कई लोगों की हत्या भी की गई है।
अन्य लोग भी आना चाहते हैं भारत

अन्य अफगानियों ने बताया के वहां के जिस तरह के हालात है। उन हालातों में वहां रहना बेहद मुश्किल है। काबुल से आए इन यात्रियों ने बताया कि काबुल में रहने वाले लोगों को जब यह जानकारी मिली कि भारत सरकार उनके बचाव में आ रही है और तमाम अफगानी भारत पहुंच चुके हैं तो वहां के अन्य लोग भी यहां आने की इच्छा जाहिर कर रहे हैं। क्योंकि उन्हें मालूम है कि अब वह केवल और केवल भारत में ही सुरक्षित रह सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.