जब पत्नी ने मूल नक्षत्र में दिया बेटे को जन्म तो पति ने पुजारी के साथ की मारपीट-देखें वीडियो

सारी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

By:

Published: 15 Jan 2018, 05:03 PM IST

गाजियाबाद। शहर में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। दरअसल एक पुजारी पर दिल्ली पुलिस के सिपाही ने आरोप लगाया है कि वह अपनी गर्भवती पत्नी को पैदा होने वाले बच्चे के जन्म का उचित समय पूछने के लिए गया था, लेकिन पंडित द्वारा जो समय बताया गया, वह समय मूल नक्षत्र का था। सिपाही का आरोप है कि पंडित के बताए समयानुसार उसने अपनी पत्नी का ऑपरेशन मूल नक्षत्र के समय को छोड़कर कराया, जिसके बाद उसे एक बेटा पैदा हुआ।

वहीं जब सिपाही ने बेटे के नामकरण में दूसरे पंडित को बुलावा तो उसने बताया कि आपके पुत्र का जन्म मूल नक्षत्र में हुआ है। जिसके बाद दिल्ली पुलिस के सिपाही को पहले पंडित की बताई गई बात झूठ लगी और उसने अपनी बहन और परिजनों के साथ लाठी डंडे लेकर मंदिर में ही पंडित पर हमला बोल दिया। पंडित लगातार रहम की भीख मांगता रहा, लेकिन अपने आप को दिल्ली पुलिस का सिपाही बताने वाला पुजारी को बेरहमी से मंदिर के अंदर ही पीटता रहा। इसी दौरान सारी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। जिसके आधार पर मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने थाना कविनगर में आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

दिन के समय मंदिर में हुई इस घटना के बाद मंदिर से जुड़े लोग दहशत में हैं। जिस शख्स पर आरोप है उसका नाम हिमांशु शर्मा है और वह दिल्ली पुलिस में सिपाही बताया जा रहा है। इस हमले की वजह यह है कि हिमांशु नाम के इस शख्स ने मंदिर के पुजारी से बच्चा पैदा करने के लिए शुभ मुहुर्त पूछा था। आरोप है कि उस समय उसे सुनने में कुछ गलतफहमी हो गई और बच्चा 19 तारीख को मूल नक्षत्र में पैदा हो गया।

उधर इस पूरे मामले में गाजियाबाद के एसपी सिटी आकाश तोमर का कहना है कि एक मंदिर के पुजारी और मंदिर समिति के पदाधिकारियों द्वारा गोविंदपुरम निवासी हिमांशु शर्मा के खिलाफ मंदिर में आकर मारपीट करने की तहरीर दी गई थी। हिमांशु शर्मा दिल्ली पुलिस का सिपाही बताया जा रहा है। उन्होंने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी गई है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned