जब रो पड़ीं उपचुनाव की बीजेपी उम्मीदवार, कहा- योगी सरकार में है जान का खतरा

मधुपति ने जिला प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप, जताया जान का ख़तरा

कौशांबी. जिला पंचायत अध्यक्ष उप चुनाव में भाजपा उम्मीदवार मधुपति ने अपनी ही सरकार के प्रशासनिक अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुये अपनी जान का ख़तरा जताया है। भाजपा उम्मीदवार का आरोप है कि, पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से विपक्षी उम्मीदवार से मिला हुआ है। मतदान में सिर्फ जिला पंचायत सदस्यों को कलेक्ट्रेट तक पहुंचने की अनुमति है। इसके बाद भी सदस्यों के पतियों व दूसरे कई असलहाधारियों को कलेक्ट्रेट के उदयन सभागार मे बैठाया गया है।

 

कहने को जिला मुख्यालय की सीमा को सील किया गया है, जबकि कलेक्ट्रेट के सामने तक लोगों का मेला लगा हुआ है। लगभग डेढ़ साल पहले सपा के समर्थन से जिला पंचायत अध्यक्ष बनने वाली मधुपति ने अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने पर इस्तीफा दे दिया था। खुद की सरकार मे जिला पंचायत अध्यक्ष पद का उप चुनाव लड़ने वाली मधुपति ने रोते हुये बताया कि विपक्षी उम्मीदवार अनामिका व उनके पति अमित सिंह से उनकी जान का ख़तरा है।

 

 

तीन दिन पहले अनामिका के पति अमित ने उन्हें पति के साथ अपने घर बुलाया और कहा कि, अनामिका को अपने साथ लेजाकर पर्चा वापस करवा लें। यह सब एक साजिश थी। अनामिका के घर उस समय कई गुण्डे बदमाश बैठे थे। ईश्वर की मेहरबानी है कि वह लोग जीवित बचकर वापस आ गए। उनके खिलाफ बहुत बड़ी साजिश रची गई थी। अनामिका व उनके परिवार पर आरोप लगते हुये कहा कि, वह सभी आपराधिक छवि के लोग हैं। 

यह भी पढ़ें- 

मऊ जिले में जिलापंचायत अध्यक्ष पद पर अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद आज अध्यक्ष पद के लिए मतदान किया जा रहा है। जिलापंचायत अध्यक्ष चुनने के लिए 34 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। साथ ही अध्यक्ष पद के लिए दो महिला प्रत्याशी चुनावी मैंदान में अपनी ताल को ठोका है। मतदान के बाद शाम तक मतगठना की जायेगी। इसके बाद ही विजयी प्रत्याशी की घोषणा की जायेगी।

 

 

 

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned