मां के सामने ही भार्इ ने ले ली बहन की जान, मामला जान कर चौंक जाएंगे आप

मां के सामने ही भार्इ ने ले ली बहन की जान, मामला जान कर चौंक जाएंगे आप
crime

मां ने बेटे के साथ मिलकर 12 वर्षीय बेटी के शव को लगवाया था ठिकाने

गाजियाबाद। मां को हल्की चोट लगने पर शख्स ने अपनी 12 वर्षीय बहन की गला घोटकर हत्या कर दी। पड़ोसियों के सवाल करने पर आरोपी 20 दिन बाद बहन की गुमशुदगी दर्ज कराने कोतवाली पहुंचा। वहां उसने बताया कि उसकी बहन तीन दिसंबर से लापता है। कर्इ दिनों बाद बहन की गुमशुदगी दर्ज कराने को लेकर पुलिस जांच में खड़े हुए सवाल पर भार्इ को हिरासत में ले लिया। यहां कड़ी पूछताछ में उसने बताया कि उसी ने उसकी हत्या कर दी।

24 दिसंबर को बहन की गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंचा था भार्इ

24 दिसम्बर को कुछ लोगों के साथ गाजियाबाद के निवाड़ी निवासी 22 वर्षीय साजिद थाने पहुंचा। यहां उसने पुलिस को बताया कि 3 दिसम्बर से उसकी 12 वर्षीय बहन लापता है। उसे सभी जगह तलाश लिया, लेकिन अब तक उसका कुछ पता नहीं लग सका है। इस पर गुमशुदगी दर्ज करानी है। 12 वर्षीय बहन के लापता होने के 21 दिन बाद शिकायत दर्ज कराने पहुंचने को लेकर पुलिसकर्मियों को शक हुआ।

21 दिन बाद गुमशुदगी की शिकायत देने पर पुलिस को हुआ शक, खोली पोल

शक के आधार पर पुलिस ने बहन की गुमशुदगी शिकायत देकर घर पहुंचे। उसके भार्इ आैर मां से ही पूछताछ की। कड़ी पूछताछ करने पर साजिद ने बहन की हत्या करने का गुनाह कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसकी बहन निशा 3 दिसम्बर को अपने किसी पडोसी के घर चली गयी थी और उसे घर वापस लौटने में काफी देर हो गयी थी। जब वह अपने घर लौटी तो उसकी मां ने उसकी पिटाई की।

बहन की पिटार्इ में मां को लगी चोट, इसलिए कर दी हत्या

इसदौरान उसकी मां को भी चोट लग गर्इ। जब साजिद अपनी दुकान से घर लौट तो उसकी मां ने चोट लगने का कारण बताया इस पर साजिद को गुस्सा आया। उसने इसी गुस्से में 12 वर्षीय के साथ मारपीट कर उसकी चुन्नी से गला दबाकर हत्या कर दी।

मां के साथ बहन का शव लगाया ठिकाने


बहन की गला दबाकर हत्या करने के बाद आरोपी साजिद और उसकी मां ने निशा के शव को नहर में बहाकर उसे ठिकाने लगा दिया और घर के सभी लोग शांत हो गए ।लेकिन कुछ दिन बाद पड़ोसियों ने निशा के बारे में पूछना शुरू कर दिया। इस पर मजबूरी में उन्होंने बताया कि वो 3 दिसम्बर से गायब है। इस पर पड़ोसियों ने उन्हें पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने भेजा। जिसके बाद उनके गुनहा से पर्दा उठ सका।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned