scriptchhath puja 2021 prices of worship items doubled in market | Chhath Puja 2021 : आज से शुरू होगी छठ पूजा, पूजन सामग्री से लेकर नहाए-खाय और खरना हुआ महंगा | Patrika News

Chhath Puja 2021 : आज से शुरू होगी छठ पूजा, पूजन सामग्री से लेकर नहाए-खाय और खरना हुआ महंगा

Chhath Puja 2021 : लोक आस्था के महापर्व छठ (Chhath Puja) की शुरुआत आज से हो रही है। छठ महापर्व पर भी इस बार महंगाई ने लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। पूजन सामग्री से लेकर नहाए-खाय और खरना तक महंगा हो गया है। बाजार में फल, बांस और मिट्टी के चूल्हा से लेकर हर चीज के दाम दोगुने हो गए हैं।

गाज़ियाबाद

Updated: November 08, 2021 12:48:30 pm

गाजियाबाद. लोक आस्था के महापर्व छठ (Chhath Puja) की शुरुआत आज से हो रही है। गाजियाबाद में छठ को लेकर लोगों में उत्साह देखा जा रहा है। हिंडन घाट पर साफ-सफाई के साथ तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वहीं, लोग छठ पूजा के लिए दुकानों से समान खरीदते नजर आए। लेकिन, इस बार छठ पर भी महंगाई का असर पड़ा है। पिछले साल की अपेक्षा इस बार छठ पूजन सामग्री और नहाय-खाय और खरना भी तीस प्रतिशत तक महंगा हो गया है। चार दिन के इस महापर्व पर भी महंगाई का असर इस बार साफ दिख रहा है। फल, बांस और मिट्टी के चूल्हा से बाजार सज चुके हैं, लेकिन हर चीज के दाम महंगे हैं। पिछले साल की तुलना में कई चीजों पर तो दाम दोगुने हो गए हैं। ऐसे में छठ व्रती के लिए पूजा सामग्री खरीदना काफी कठिन हो रहा है।
chhath-puja-2021.jpg
बता दें कि पिछले दो साल से कोरोना के कारण लोगों की आमदनी घट गई है। ऐसे में छठ व्रती पूजा सामग्री खरीदने में भी कटौती कर रहे हैं, जो लोग पहले दो किलो गेहूं खरीदते थे वे इस बार एक किलो ही खरीदकर काम चला रहे हैं। इस बार एक किलो गेहूं के आटे से ही ठेकुआ बनेगा। वहीं केला, सिंघाड़ा आदि फलों में भी कटौती हो रही है। बजट भी न बिगड़े और छठ मइया भी प्रसन्न हो जाए, इसलिए ऐसा करना पड़ रहा है।
यह भी पढ़ें- नहाए-खाए के साथ यूपी में आज से बिखरेगी छठ की छटा

एक छठ व्रती को 5 से 7 हजार रुपए का खर्च

छठ व्रतियों का कहना है कि छठ पूजा (Chhath Puja) की सभी चीजें महंगी हो गई हैं। इस वजह से खर्च भी बढ़ गया है। पिछले साल जहां 3 से 5 हजार रुपए का खर्च आया था, वहीं इस बार 5 से 7 हजार रुपए खर्च हो रहे हैं। इस बार पिछले साल की तुलना में दो से तीन हजार अधिक खर्च करना पड़ रहा है।
इलाके के अनुसार है पूजा सामग्री के दाम

अलग-अलग इलाकों में पूजा सामग्री की कीमत अलग-अलग है। मंडी में सामान सस्ता है, लेकिन वहीं खुदरा दुकानों पर हर सामान पर दोगुना दाम वसूला जा रहा है। हर सामान मंडी की तुलना में दोगुनी कीमत पर बेचा जा रहा है।
पिछले साल की तुलना में दोगुनी हो गई कीमत

फल ------- पिछले साल की कीमत ----- इस साल की कीमत
केला ------ 40 से 50 रुपये दर्जन ------- 50 से 60 रुपये
नारियल -- 40 से 45 रुपये -------------- 50 से 60 रुपये
सेब -------- 70 रुपये किलो ------------- 100 से 120 रुपये किलो
सिंघाड़ा ---- 30 रुपये किलो ------------- 50 रुपये किलो
अन्य सामान की कीमत

सामग्री ---------- पिछले साल की कीमत ----- इस साल की कीमत
टोकरी ----------- 90 से 100 रुपये ----------- 100 से 150 रुपये
बड़ी टोकरी ------ 130 से 250 रुपये ---------- 250 से 350 रुपये
सूप -------------- 70 से 90 रुपये -------------- 100 से 140 रुपये
मिट्टा का चूल्हा - 100 से 150 रुपये ----------- 200 से 250 रुपये
नहाय खाय और खरना भी हुआ महंगा

सामान ------ पिछले साल -------------- इस साल
चावल ------- 45 से 55 रुपये किलो --- 60 से 80 रुपये
चना दाल --- 90 रुपये किलो ----------- 110 रुपये
चना --------- 70 रुपये किलो ----------- 100 रुपये

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.