scriptcontroversy over ghaziabad encounter minor mother said my son innocent | सवालों के घेरे में गाजियाबाद एनकाउंटर, मां बोली- मेरा एक बेटा नाबालिग, दो दिन बाद पता चला पुलिस ने गोली मार दी | Patrika News

सवालों के घेरे में गाजियाबाद एनकाउंटर, मां बोली- मेरा एक बेटा नाबालिग, दो दिन बाद पता चला पुलिस ने गोली मार दी

गाजियाबाद एनकाउंटर में सात बदमाशों को एक स्थान पर ही गोली लगने से सवाल खड़े हुए तो इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी का तबादला कर दिया गया, लेकिन इंस्पेक्टर खुद ही छुट्‌टी पर चले गए। इसी बीच पता चला है कि आरोपियों में से एक नाबालिग है। नाबालिग की मां ने पुलिस पर सवाल उठाए हैं।

गाज़ियाबाद

Published: November 19, 2021 10:32:55 am

गाजियाबाद. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से यूपी पुलिस लगातार बदमाशों का एनकाउंटर कर रही है। यूपी पुलिस के अधिकतर एनकाउंटर में बदमाशों के पैर में घुटने से नीचे गोली लग रही है। हाल ही में गाजियाबाद के लोनी बार्डर थाना क्षेत्र में भी एनकाउंटर हुआ है, जिसमें गो तस्करी के मामले में सात बदमाशों के पैर में एक ही जगह गोली मारी गई है। सभी बदमाशों को एक स्थान पर ही गोली लगने से एनकाउंटर पर सवाल खड़े हुए तो इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी का तबादला कर दिया गया, लेकिन इंस्पेक्टर खुद ही छुट्‌टी पर चले गए। इसी बीच पता चला है कि आरोपियों में से एक नाबालिग है। नाबालिग की मां ने पुलिस पर सवाल उठाए हैं।
ghaziabad-encounter.jpg
नाबालिग आरोपी की मां समीना ने बताया कि वह अशोक विहार में रहते हैं। 15-20 दिन पहले उनका छोटा बेटा बड़े भाई इंतजार के साथ बेहटा हाजीपुर में कबाड़ी की दुकान पर काम करने गया था। वह दिन में काम करने के बाद रात को वहीं सोता था। एनकाउंटर के दो दिन बाद सोशल मीडिया पर फोटो देखा तो पता चला कि लोनी बॉर्डर पुलिस ने दोनों बेटों को एनकाउंटर में गोली मार दी है। उनका छोटा बेटा महज 16 साल का है, लेकिन पुलिस ने एनकाउंटर के बाद भी उन्हें कोई जानकारी नहीं दी। वहीं, एनकाउंटर की जांच कर रहे डीएसपी रजनीश उपाध्याय का कहना है कि नाबालिग को गोली लगने का मामला संज्ञान में है। पुलिस दस्तावेज के आधार पर जांच में जुटी है। जल्द ही जांच रिपोर्ट एसएसपी को सौंपी जाएगी।
यह भी पढ़ें- दो धर्मों के बालिग जोड़े की शादीशुदा जिंदगी में किसी को हस्तक्षेप का अधिकार नहीं: इलाहाबाद हाईकोर्ट

सातों को पैर में ही मारी गई गोली

गौरतलब है कि 11 नवंबर की सुबह तत्कालीन लोनी बॉर्डर थाने के इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी ने बेहटा हाजीपुर में मुखबिर की सूचना पर प्रतिबंधित पशु काटने को लेकर छापा मारा था। इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी के अनुसार, पहले बदमाशों ने फायरिंग की, पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में 7 लोगों को पैर में गोली मार पकड़ लिया। सभी के पैर में एक ही स्थान पर गोली लगने का मामला मीडिया में आया तो एसएसपी ने संज्ञान लेते हुए इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी का तबादला इंदिरापुरम थाने में कर दिया। तबादले की खबर मिलते ही इंस्पेक्टर जीडी में कुछ दिन के लिए कार्यमुक्त करने की बात लिख दी। हालांकि भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने उनके तबादले का विरोध भी किया था।
एसएसपी ने बिठाई विभागीय जांच

एनकाउंटर विवादों में घिरता देख एसएसपी ने विभागीय जांच बिठा दी है। साथ ही एनकाउंटर करने वाले इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी को निलंबित कर दिया गया। हालांकि निलंबन अनुशासनहीनता को लेकर किया गया है। एसएसपी का कहना है कि जीडी में गलत लिखने, गोपनीय दस्तावेज को वायरल करने और ड़यूटी से गैरहाजिर रहने पर इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी को निलंबित किया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.