अखबार, दूध के पैकेट, डोरबेल... इन सब चीजों से नहीं फैलता कोरोना वायरस, जानिये क्यों

Highlights
- अखबार पढ़ने, दूध के पैकेट और डोरबेल का स्विच दबाने से कोरोना वायरस फैलने की खबर वायरल
- गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कोरी अफवाह
- बोले- अफवाहों पर ध्यान न दें बल्कि अपनी व अपने आसपास सफाई रखें और सावधान रहें

By: lokesh verma

Published: 19 Mar 2020, 11:05 AM IST

गाजियाबाद. कोरोना वायरस के तेजी से फैलने को लेकर लगातार तरह-तरह की भ्रांतियां फैल रही हैं। कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि अखबार पढ़ने या बाहर से लाए गए दूध के पैकेट और डोरबेल का स्विच दबाने से भी कोरोना वायरस फैल सकता है। गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इसको कोरी अफवाह बताते हुए कहा है कि लोग इस तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें, बल्कि अपनी व अपने आसपास सफाई रखें और सावधान रहें।

यह भी पढ़ें- CoronaVirus: धारा-144 लागू होने के बाद इस्काॅन मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद

चिकित्सकों का कहना है कि यह वायरस संक्रमित इंसान के छींकने और खासने से ही होता है। इसलिए संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें और अपने हाथ एवं मुंह को बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से धोएं। इसके साथ ही मुंह पर मास्क का इस्तेमाल करे तो कोरोना वायरस के फैलने से रोका जा सकता है। गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र कुमार गुप्ता ने लोगों से अपील की है कि अखबार पढ़ने या दूध के पैकेट से कोरोना होने जैसी अफवाहों पर ध्यान ना दें।

उनका कहना है कि अखबार पढ़ने के बाद अपने हाथ सैनिटाइज करें या साबुन से धोएं। यदि डोर बेल स्विच का इस्तेमाल होता है तो उसके बाद भी हाथों को धोएं। वहीं यदि बाहर से कोई भी सामान खरीद कर ला रहे हैं तो उसके बाद भी उसे ठीक से साफ कर अपने हाथों को सैनिटाइज करें या साबुन से धोएं। इसके साथ ही मुंह पर मास्क लगाएं और अपने आसपास भी साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। इसके अलावा किसी भी बीमारी से पीड़ित मरीज से थोड़ी दूरी बनाए रखेंगे तो निश्चित तौर पर इससे बचा जा सकता है।

यह भी पढ़ें- coronavirus UP से आई राहत भरी खबर, पीड़ित कारोबारी ठीक होकर घर लौटे, बेटे की हालत में भी सुधार

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned