सपा के पार्षद ने सबके सामने लहराई नोटों की गड्डी

 सपा के पार्षद ने सबके सामने लहराई नोटों की गड्डी
ghaziabad SP Leader

मेयर का कहना निगम के लिए काला दिन, डीएम करेंगी जांच

गाजियाबाद। नगर निगम कार्यकारिणी के चुनाव को लेकर मेयर की निर्विरोध चुनाव के लिए हुई बैठक और दावे हवाई साबित हो गए। चुनाव के दिन निगम सभागार में नामांकन की शुरूआत के साथ ही हंगामा शुरू हुआ। इसी बीच सपा के पार्षद ने एक लाख रुपए की गड्डी हवा में लहरा दी। 


इसके बाद में सभागार का माहौल गरमा गया। पार्षद ने अन्य पार्षदों पर लाख रुपए लेकर बैठने का आरोप लगाया। महापौर ने इसे निगम के इतिहास का काला दिन बताते हुए डीएम से मामले की जांच कराने की बात कही। हंगामे के बाद में निर्विरोध रूप से सपा, बीजेपी और कांग्रेस से छह कार्यकारिणी सदस्यों की घोषणा की गई।


दरअसल नगर निगम में छह कार्यकारिणी सदस्यों का कार्यकाल पूरा होने पर दोबारा से इन पदों पर नामित करने के लिए सोमवार को चुनाव हुआ। छह सीटों के लिए बीजेपी से सरदार सिंह भाटी, राजेन्द्र त्यागी, सपा से सतपाल यादव, सीमा, जाकिर सैफी, कांग्रेस से बबीता, बीएसपी से बलवंत, द्वारका प्रसाद, इकबाल जहां समेत नौ लोगों ने नामांकन किया था।


सपा पार्षद जाकिर सैफी ने एक लाख रुपए की गड्डी हवा में उछालते हुए आरोप लगाया कि कुछ पार्षदों ने कार्यकारिणी चुनाव से नाम वापस लेने के नाम पर लाख रुपए दिए। इसके संबंध में पार्षद की तरफ से महापौर को एक पत्र दिया गया।


हंगामे की स्थिति को किसी तरीके से मेयर ने काबू में लिया। इसके बाद में निर्विरोध रूप से चुनाव कराते हुए सरदार सिंह भाटी, राजेन्द्र त्यागी, सतपाल यादव, बलवंत सिंह, बबीता, द्वारका प्रसाद को कार्यकारिणी सदस्य घोषित किया गया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned