scriptDriver rahul verma sentenced to death for mass massacre of 7 people in ghaziabad | गाजियाबाद में कारोबारी के परिवार के 7 लोगों का सामूहिक नरसंहार करने वाले ड्राइवर को फांसी की सजा | Patrika News

गाजियाबाद में कारोबारी के परिवार के 7 लोगों का सामूहिक नरसंहार करने वाले ड्राइवर को फांसी की सजा

गाजियाबाद कोर्ट ने 9 साल पहले कारोबारी के परिवार के 7 लोगों का नरसंहार करने के मामले ड्राइवर राहुल वर्मा को दोषी करार देते हुए आईपीसी की धारा 302 के तहत फांसी की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 50 हजार जुर्माना भी लगाया है।

गाज़ियाबाद

Published: August 01, 2022 05:12:57 pm

गाजियाबाद शहर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत नई बस्ती में करीब 9 साल पहले एक ही परिवार के 7 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। तभी से यह मामला गाजियाबाद कोर्ट में चल रहा था। इस मामले में गाजियाबाद कोर्ट ने मृतक परिवार के पुराने ड्राइवर राहुल वर्मा को शनिवार को दोषी ठहराया था। रविवार को कोर्ट ने इस पर फैसला सुनाया और राहुल वर्मा को आईपीसी की धारा 302 के तहत फांसी की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 50 हजार जुर्माना भी लगाया है। मृतक परिवार के वकील देवराज सिंह का कहना है कि आखिरकार इस मामले में 9 साल की कानूनी लड़ाई के बाद न्याय की जीत हुई है।
driver-rahul-verma-sentenced-to-death-for-mass-massacre-of-7-people-in-ghaziabad.jpg
बताते चले कि गाजियाबाद शहर कोतवाली क्षेत्र के नई बस्ती इलाके में 22 मई 2013 को जघन्य हत्याकांड हुआ था। जिसमें एक कारोबारी के पूरे परिवार को खत्म कर दिया गया था। इस हत्याकांड में 7 लोगों की हत्या की गई थी। उस दौरान खल-चूरी का कारोबार करने वाले सतीश गोयल उनकी पत्नी मंजू गोयल, सतीश गोयल का बेटा सचिन गोयल, सचिन गोयल की पत्नी रेखा गोयल के अलावा सचिन के तीन बच्चे हनी, अमन और मेघा को मौत के घाट उतार दिया गया था। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए सतीश गोयल के पुराने ड्राइवर राहुल वर्मा को गिरफ्तार किया था।
यह भी पढ़ें - इंडियन आइडल फेम फरमानी नाज के 'हर-हर शंभू' गाने पर भड़के उलमा

चोरी की नीयत से घर में घुसा था राहुल

पुलिस की छानबीन में सामने आया था कि राहुल वर्मा पहले इनका ड्राइवर था और नशे का आदी था। राहुल को पैसे की आवश्यकता थी। इसलिए वह चोरी करने के लिए रात को कारोबारी के घर में घुसा था। लेकिन, इसी बीच परिवार के किसी सदस्य ने उसको देख लिया था। जिसके चलते उसने इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया था। तभी से यह मामला गाजियाबाद न्यायालय में चल रहा था।
यह भी पढ़ें - पीएम मोदी से शिकायत के बाद बैकफुट पर AMU, सिलेबस से हटाई पाकिस्तानी लेखकों की किताबें

कुल 30 लोगों ने दी केस में गवाही

बता दें कि इस मामले में सरकार की तरफ से 28 और मृतक की तरफ से दो गवाहों के बयान हुए। तमाम गवाहों और सबूतों के आधार पर न्यायालय ने इस मामले में राहुल वर्मा को शनिवार को दोषी करार दिया था। वहीं रविवार को कोर्ट ने धारा 302 के तहत फांसी की सजा का ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट के फैसले के बाद मृतक सतीश के करीबी रहे सचिन मित्तल ने बताया कि 9 साल 2 महीने की लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आज जीत हासिल हुई है, उन्हें कानून पर पूरा भरोसा था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः जदयू और भाजपा के बीच तकरार की वो पांच वजहें, जिससे टूटने के कगार पर पहुंची नीतीश कुमार सरकारहिंदुओं को अल्पसंख्यक घोषित करना अदालत का काम नहीं: सुप्रीम कोर्टFBI का छापा : अमरीका में भी भारत की तरह छापेमारी, Donald Trump के फ्लोरिडा वाले घर पर FBI की रेडCWG 2022: शूटिंग के बिना भारत ने जीते 61 मेडल, चौथे नंबर पर खत्म किया कॉमनवेल्थ का सफरMaharashtra Cabinet Expansion: सुबह 11 बजे से नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह, उद्धव सरकार में मंत्री रहे इन चेहरों को भी मिल सकती है जगहबिहार में टूट के कगार पर भाजपा-जदयू गठबंधन! JDU की आज CM नीतीश के घर पर निर्णायक बैठकएक साल की उम्र में हुआ पोलियो, पैसे की कमी के चलते नहीं हुआ इलाज़, भावुक कर देगी गोल्ड मेडलिस्ट भाविना पटेल की कहानीHDFC ने दिया ग्राहकों को झटका, 10 दिन में दूसरी बार बढ़ाई होम लोन की ब्याज दरें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.