12 वर्षीय बच्ची कई-कई दिन घर से गायब हाेकर करती है इतना गंदा काम, अब घर नहीं ले जाना चाहते परिजन

12 वर्षीय बच्ची कई-कई दिन घर से गायब हाेकर करती है इतना गंदा काम, अब घर नहीं ले जाना चाहते परिजन

lokesh verma | Updated: 23 Sep 2019, 05:43:41 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • गाजियाबाद रेलवे स्टेशन से जीआरपी को मिली 12 वर्षीय बच्ची
  • बच्ची के परिजनों ने घर ले जाने से किया इनकार
  • जीआरपी ने बच्ची को चाइल्ड लाइन को सौंपा

गाजियाबाद. गाजियाबाद रेलवे स्टेशन से जीआरपी को ग्रेटर नोएडा की रहने वाली एक 12 वर्षीय बच्ची मिली है। जीआरपी ने जब उसके परिजनों को बुलाकर घर ले जाने के लिए कहा तो उन्होंने उसे ले जाने से साफ मना कर दिया। जी हां, चौंकिए मत यह सच है। दरअसल, यह बच्ची सप्ताहभर पहले अपनी मां को बुलंदशहर स्थित रेलवे स्टेशन पर धक्का देते हुए भाग गर्इ थी। अब उसकी मां मेरठ के हाॅस्पिटल में जिंदगी के लिए मौत से जंग लड़ रही है। परिजनों का कहना है कि यह बच्ची पहले घर पर चोरी किया करती थी, लेकिन अब इसकी हरकतों से सब परेशान हैं। फिलहाल बच्ची को चाइल्डलाइन को सौंप दिया गया है।

यह भी पढ़ें- 3 साल की मासूम बच्ची से हैवानियत, गला काटकर इस हाल में फेंक गया दरिंदा, देखें Video

बता दें कि ग्रेटर नोएडा के एक गांव की रहने वाली इस बच्ची के पिता पेशे से किसान हैं। यह बच्ची उनकी तीन बेटियों में से दूसरे नंबर की है। उन्होंने बताया कि यह बेटी दो साल से घर में चोरी कर रही है। वहीं बच्ची के चाचा ने बताया कि पहले तो उन्होंने इसकी हरकतों पर डांट लगार्इ, लेकिन इसके बाद इसने गांव के अन्य घरों में चोरी करनी शुरू कर दी। इतना ही नहीं यह बच्ची कई-कई दिन के लिए घर से लापता हो जाती है। माता-पिता कई बार इसकी पिटाई भी कर चुके हैं, लेकिन यह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है। इसकी हरकतों की वजह से मां की मानसिक स्थिति बिगड़ चुकी है।

उन्होंने बताया कि सप्ताहभर पहले बच्ची मां के साथ बुलंदशहर में अपने एक रिश्तेदार के यहां गई थी। इस दौरान वहां रेलवे स्टेशन पर मां उसे डांट दिया। इस पर बच्ची अपनी मां को ही प्लेटफार्म से ट्रैक पर धक्का देकर फरार हो गई। इसकी वजह से इसकी मां को मेरठ में भर्ती किया गया है। जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इसलिए वह इसे अब घर नहीं ले जाना चाहते हैं।

शनिवार शाम को बच्ची गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर जीआरपी को मिली। जीआरपी ने परिजनों को फोन कर बच्ची को ले जाने के लिए कहा। मगर परिजनों ने उसे घर ले जाने से साफ इन्कार कर दिया। पिता ने कहा कि वह अब अपनी बेटी को कभी घर नहीं लाना चाहते। उसकी पत्नी को डॉक्टरों ने खून चढ़ाने के लिए कहा है। खून नहीं मिलने उसकी जान जा सकती है। इस मामले में जीआरपी थाना प्रभारी अशोक सिसौदिया का कहना है कि फिलहाल बच्ची को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया है।

यह भी पढ़ें- 28 हजार आया बिजली का बिल, बुजुर्ग पिता के अपमान पर इकलौते बेटे ने किया सुसाइड, देखें Video

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned