पूर्व चुनाव आयुक्त का ही वोटर लिस्ट से गायब मिला नाम तो मचा हड़कंप

  • विधानसभा से लेकर लोकसभा चुनाव में अहम भूमिका निभा चुके हैं जीवीजी कृष्णमूर्ति
  • लोगों का आरोप सोसायटी में बहुत ज्यादा लोगों के नाम में गलती

By: Nitin Sharma

Updated: 10 Apr 2019, 01:09 PM IST

गाजियाबाद।देश में होने वाले विधानसभा से लेकर लोकसभा चुनावों में अहम भूमिका निभाने वाले पूर्व चुनाव आयुक्त का ही वोटर लिस्ट से नाम गायब मिला।दरअसल गाजियाबाद के कौशांबी में पिछले 27 सालाें से भारत के पूर्व इलेक्शन कमिश्नर जीवीजी कृष्णमूर्ति रहते है।उनका लोकसभा चुनाव की वोटर लिस्ट से नाम ही गायब मिल। उनके साथ कुछ आैर लोगों के नाम भी गायब मिले।जिसकी शिकायत कारवां प्रेसिडेंट विनय कुमार मित्तल व पार्षद मनोज गोयल ने इसकी शिकायत गाजियाबाद डीएम से की है। वहीं इसकी जानकारी मिलते हड़कंप मच गया।

यह भी पढ़ें-ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भाजपा पर तंज कसते हुए कह दी एेसी बात कि चौंक गये सभी लोग- देखें वीडियो

27 साल से कौशांबी के मलयगिरी टावर में रहते पूर्व चुनाव आयुक्त

जानकारी के अनुसार पूर्व चुनाव आयुक्त जीवीजी कृष्णमूर्ति 27 वर्ष से कौशांबी के मलयगिरी टावर में रह रहे हैं। इसके बावजूद उनका विधानसभा के चुनावों से लेकर अब लोकसभा चुनाव में उनका नाम वोटर लिस्ट से गायब मिला। इसकी शिकायत नगर निगम चुनाव व विधानसभा चुनाव में डीएम से भी की गई थी पर कोई समाधान नहीं हुआ। वहीं लोगों का आरोप है कि यहां ज्यादा लोगों के नाम वोटर लिस्ट में गलत या फिर उनका नाम ही गायब कर दिया गया है। रिपोर्टस के अनुसार पूर्व चुनाव आयुक्त जीवीजी कृष्णमूर्ति का नाम वोटिंग लिस्ट में नहीं आने से जिला प्रशासन के अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए हैं। आनन-फानन में देर रात उनके निवास पर प्रशासन की ओर से एक बीएलओ फॉर्म लेकर पहुंचे, जो उनके वोट बनाने की औपचारिकता पूरी की।

यह भी पढ़ें-'राजा' का प्रचार करने के लिए इस लोकसभा क्षेत्र में पहुंचेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लोगों का आरोप गार्ड पर्ची थमाकर निकल जाते है बीएलआे

वोटर लिस्ट में गड़बड़ी को लेकर पार्षद मनोज गोयल ने बताया कि प्रशासन के अधिकारियों को फोन कर इसकी सूचना देनी चाही, तो फोन नहीं उठा।ऑफिस में मिलने जाओ तो मीटिंग में व्यस्त होते हैं। यहां 19 बीएलओ हैं, लेकिन कोई भी उनका काम नहीं करता।बीएलआे घर-घर जाकर पर्ची देने की जगह सोसायटी के गार्ड को पर्ची देकर निकल जाते है।वहीं इस मामले में डीएम रितु माहेश्वरी ने कहा कि उनके पास इस तरह की कोर्इ शिकायत नहीं आर्इ है।अगर एेसी शिकायत है तो कार्रवाई कर मतदाताओं को राहत देने की हरसंभव कोशिश की जाएगी।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App

Nitin Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned