इंदिरापुरम मर्डर: इंजीनियर को कॉलेज में पड़ी थी ऐसी लत, सीने से लिपटे बेटे को मारते हुए भी दया नहीं आई

इंदिरापुरम मर्डर: इंजीनियर को कॉलेज में पड़ी थी ऐसी लत, सीने से लिपटे बेटे को मारते हुए भी दया नहीं आई

sharad asthana | Updated: 25 Apr 2019, 09:50:34 AM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

  • तीन बच्‍चों व पत्‍नी का कत्‍ल करने वाले को पुलिस ने कर्नाटक के उडुपी से किया था गिरफ्तार
  • ड्रग्‍स की लत की वजह से छूटी 87 हजार रुपये सैलरी वाली नौकरी
  • ट्रेन से कूदने की कोशिश की लेकिन हिम्‍मत नहीं कर पाया हत्‍यारोपी

गाजियाबाद। इंदिरापुरम के ज्ञानखंड में तीन बच्‍चों व पत्‍नी का कत्‍ल करने वाले को पुलिस ने कर्नाटक के उडुपी से गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार को पुलिस ने हत्‍याकांड का पूरा खुलासा किया। पुलिस के मुताबिक, हत्‍यारोपी सॉफ्टवेयर इंजीनियर कॉलेज टाइम से ही नशा करने लगा था। फिर उसे इसकी लत लग गई थी। वारदात वाली रात उसने सबसे पहले अपने बड़े बेटे की हत्‍या की थी। वह हत्‍यारोपी सुमित से लिपटकर सोया था। बताया जा रहा है क‍ि सुमित उसे सबसे ज्‍यादा प्‍यार करता था।

यह भी पढ़ें: पत्नी व 3 बच्चों की हत्या करने वाले इंजीनियर ने 72 घंटे बाद किया चौंकाने वाला खुलासा, देखें वीडियो

जेब खर्च के मिलते थे 2 हजार रुपये

एसपी सिटी श्‍लोक कुमार के मुताबिक, सुमित को कॉलेज टाइम से सिगरेट की लत लग गई थी। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान उसे जेब खर्च के 2 हजार रुपये मिलते थे। इससे उसने सिगरेट पीनी शुरू कर दी। बाद में उसे ड्रग्‍स ने अपनी जकड़ में ले लिया। उसकी हालत ऐसी हो गई थी कि ड्रग्‍स न मिलने पर उसके हाथ-पैर कांपने लगते थे। इसी वजह से जनवरी में उसकी 87 हजार महीने की सैलरी वाली नौकरी भी छूट गई थी। नौकरी छूटने के बाद उसने अपनी पत्‍नी अंशुबाला से चोरी और लूटपाट करने की बात कही। अंशुबाला ने इसका विरोध किया तो उसने इस तबाही की प्‍लानिंग की।

यह भी पढ़ें: नाचने-गाने और समलैंगिक संबंध पर पिता ने दी खौफनाक सजा

ऐसे मारा परिवार को

वारदात वाली रात शनिवार को उसने परिवार को कोल्ड ड्रिंक में नशे की दवा पिला दी थी। उस रात सुमित का बड़ा बेटा प्रतिमेष उससे लिपटकर सोया हुआ था। सुमित उसे सबसे ज्‍यादा प्‍यार करता था। उसने सबसे पहले प्रतिमेष की गला रेतकर हत्‍या की। इसके बाद वह पत्‍नी के कमरे में गया। वहां उसने आरव और आकृति का कत्‍ल किया। इतने में अंशुबाला जग गई। उस ने बचने की कोशिश की लेकिन नाकाम रही। पुलिस के मुताबिक, सुमित ने बताया कि जान लेने से ज्‍यादा कठिन है जान देना। उसने दो बार आत्‍महत्‍या की कोशिश की लेकिन हिम्‍मत नहीं हुई। ट्रेन के टॉयलेट में उसने मेडिकल स्‍टोर से लिया सायनाइड (जहरीला पदार्थ) पिया लेकिन कुछ नहीं हुआ। फिर उसने ट्रेन से कूदने की कोशिश की लेकिन डर गया।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App .

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned