Ghaziabad: Sleeping Mode में रखे लैपटॉप में लगी आग से जल गया फ्लैट, बाल-बल बचा सॉफ्टवेयर इंजीनियर

Highlights

  • राजनगर एक्सटेंशन की रीवर हाईट्स सोसायटी में हुआ हादसा
  • सातवें फ्लोर पर पत्‍नी के साथ रहते हैं साफ्टवेयर इंजीनियर
  • नींद आने पर लैपटॉप की स्‍क्रीन नीचे कर दूसरे कमरे में सोने चले गए थे

By: sharad asthana

Updated: 27 Nov 2019, 01:11 PM IST

गाजियाबाद। इलेक्‍ट्रॉनिक गैजेट का इस्‍तेमाल करते समय हमेशा ध्‍यान रखने की बात कही जाती है लेकनि कभी-कभी छोटी सी लापरवाही बड़े हादसे का कारण बन जाती है। गाजियाबाद में भी सोमवार रात को एक ऐसा ही हादसा हुआ। राजनगर एक्सटेंशन में स्‍लीपिंग मोड में रखे लैपटॉप में ब्‍लास्‍ट होने से फ्लैट में आग लग गई। दमकल कर्मियों ने रस्‍सी के सहारे सॉफ्टवेयर इंजीनियर को नीचे उताराकर उसकी जान बचाई।

नोएडा में काम करते हैं राहुल

राहुल सिंह पत्‍नी के साथ राजनगर एक्सटेंशन की रीवर हाईट्स सोसायटी में किराये पर रहते हैं। उनका फ्लैट सातवें फ्लोर पर है। वह नोएडा के सेक्टर-62 स्थित एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। राहुल सिंह की पत्‍नी स्‍कूल में पढ़ाती हैं। सोमवार को राहुल की नाइट शिफ्ट थी। ऑफिस से आने के बाद वह लैपटॉप कुछ काम करने लगे। नींद आने पर वह लैपटॉप की स्‍क्रीन नीचे कर दूसरे कमरे में सोने चले गए। मंगलवार सुबह उनकी पत्‍नी स्‍कूल चली गईं।

यह भी पढ़ें: Shamli: इस बात पर स्‍कूल के वॉशरूम में सीनियर छात्र ने मार दिया 11वीं के स्‍टूडेंट को चाकू, हालत गंभीर

गार्ड ने किया दमकल कर्मियों को फोन

सुबह करीब साढ़े 8 बजे जब राहुल की आंख खुली तो उनको पूरे घर में धुंआ भरा हुआ मिला। दूसरे कमरे में उन्‍होंने देखा कि लैपटॉप जल रहा था और गद्दों में आग लग गई थी। इसके बाद उन्‍होंने दो पिलर के बीच खड़े होकर मदद के लिए शोर मचाया। घटना की जानकारी होते ही गार्ड ने दमकल विभाग को फोन किया। दमकल कर्मियों ने रस्‍सी के सहारे इंजीनियर को नीचे उतारा और आग पर काबू पाया। इस बारे में सीएफओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि लैपटॉप में आग लगने की वजह से यह हादसा हुआ है।

यह भी पढ़ें: Meerut: पति और पत्‍नी में मुजफ्फरनगर को लेकर हुआ विवाद, महिला बोली- वहां नहीं रह सकती

ये बरतें सावधानी

कंप्‍यूटर एक्‍सपर्ट विवेक गुप्‍ता का कहना है क‍ि स्‍लीपिंग मोड में बैटरी ओवरचार्ज होने से उसमें आग लग सकती है। साथ ही बैटरी खराब होने से भी ऐसा हो सकता है। वोल्‍टेज अप-डाउन होने से भी आग लगने से संभावना बनी रहती है। इससे बचने के लिए काम खत्‍म होने के बाद लैपटॉप को शटडाउन कर दें। साथ ही उसके अडॉप्‍टर को चार्जिंग प्‍लग से निकाल दें।

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned