धर्म परिवर्तन के डर से स्कूल नहीं जाती है ये 'बेटी', यह खबर पाकिस्तान की नहीं हिंदुस्तान की है

खबर पढ़कर चौंक जाएंगे आप, कैसे पढ़ेगी गरीब की बेटी

गाजियाबाद। कैसे पढ़ेगीं बेटी, कैसे बढ़ेगीं बेटी। जी हां! देश में जहां हर पार्टी का नेता कहता है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन दिल्ली के पास एक बेटी मनचलों के आतंक के चलते दसवीं के प्री बोर्ड के पेपर छोड़ रही है। वह प्रतिदिन स्कूल के टाइम पर तैयार होकर घर पर ही रुक जाती है, उसे डर है कि कहीं वो मनचले उसे उठाकर ना ले जाए और उसका धर्म परिवर्तन तक करा दें। मामला गाजियाबाद के साहिबाबाद थाना क्षेत्र के अर्थला का है।

यह दसवीं की छात्रा है और होनहार भी है मगर ये एक गरीब सब्जी बेचने वाले की बेटी है। इस लड़की का कहना है कि स्कूल में इसी की क्लास में पढ़ने वाला फिरोज और उसका साथी अहसान उसके साथ रास्ते में छेड़छाड़ करते हैं और उठाकर ले जाने की धमकी देते हैं। साथ ही कहते है तेरा धर्म परिवर्तन कर दूंगा। लेकिन हद जब हो गयी जब सरेराह इन दोनों लड़कों ने छेड़छाड़ की। जिससे इस छात्रा के मन में इनका इतना डर बैठ गया कि स्कूल में होने वाले दसवीं के प्री बोर्ड के पेपर तक छोड़ दिए और स्कूल की जगह अपनी सहेली के यहां जाकर पढ़ाई करने लगी। 

इन सब के बीच डरी सहमी छात्रा घर में गुमसुम रहने लगी तब छात्रा की बड़ी बहन ने उससे इसका कारण पूछा तो उसने जो आप बीती बताई उसे सुनकर परिवारवालों के होश उड़ गए फिर यह मामला प्रकाश में आया। इसके बाद परिवार वालों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है। वहीं स्कूल में जाकर प्रिंसिपल से उन मनचलों की शिकायत भी की गयी है। मामले को गंभीरता से लेते हुए पीड़ित के परिवार ने मामले की शिकायत पुलिस से की। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है मगर अभी तक दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। जिसकी वजह से ये लड़की अभी भी स्कूल जाने से डरती है।

हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है मगर पीड़ित का पूरा परिवार काफी डरा सहमा है। जिसके बाद छात्रा का भाई उसके साथ आता जाता है। वहीं इस मामले में पुलिस के हाथ से अभी दोनो मनचले दूर हैं। ऐसे में बड़ा सवाल है कि कुछ ही दिनों बाद दसवीं के बोर्ड के पेपर शुरू होंगे। ऐसे में ये गरीब की बेटी कैसे पढ़ेगी और कैसे बढ़ेगी।
Show More
Rajkumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned