DGP के निर्देश के बाद अब स्कूली छात्राएं संभालेंगी थानाध्यक्ष का चार्ज, जानिये पूरा मामला

Highlights

. छेड़छाड़ की घटनाओं में कमी और GIRLS STUDENT को सशक्त बनाने के लिए लिया गया फैसला
. फेडरेशन ऑफ एओए की तरफ से UP DGP से की गई थी छात्राओं को थाने की जिम्मेदारी देने की मांग
. डीजीपी ने लेटर जारी कर रूपरेखा तैयार करने के दिए निर्देश

 

गाजियाबाद। नायक फिल्म की कहानी आपको याद होगी। जिसमें अनिल कपूर को एक दिन का Chief Minister बनाया जाता है। लेकिन UP के इस जिले में girls students को एक-एक दिन का थाना प्रभारी बनाने की तैयारी की जा रही है। छात्राओं को एक-एक दिन के लिए थाने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इस हकीकत को जमीनी स्तर लाने की तैयारी पुलिस की तरफ से शुरू कर दी गई है। अधिकारियों की माने तो छात्राओं को अलग-अलग थाने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। DGP के निर्देश के बाद पुलिस अधिकारियों ने इसकी रूपरेखा तैयार करनी शुरू कर दी हैं।

यह भी पढ़ें: नौकरी की तलाश में इंटरव्यू देने पहुंची युवती के साथ 6 ने किया गैंगरेप, इस हालात में पहुंची अस्पताल

एसपी सिटी मनीष कुमार मिश्रा ने बताया कि फेडरेशन ऑफ एओए(FEDRATION OF AOA) के पदाधिकारियों ने डीजीपी ओपी सिंह(DGP OP SINGH) के साथ मीटिंग की थी। फेडरेशन ऑफ एओए के अध्यक्ष आलोक कुमार ने बताया था कि छेड़छाड़ की घटनाओं से छात्रा बेहद परेशान होती हैं। वे अपने मन की बात किसी से कह भी नहीं पाती हैं। यहां तक की पुलिस से शिकायत करने में भी डरती है। घटना को रोकने और छात्राओं के मन से पुलिस के प्रति डर को निकालने के लिए उन्हें एक-एक दिन का थाना इंचार्ज (P0LICE STATION INCHARGE) बनाने की मांग की गई थी। हर थाना क्षेत्र में 12वीं और ग्रेजुएशन में पढ़ने वाली छात्राओं को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी।

इन्हीं में से समर्थ रखने वाली छात्राओं को 1-1 दिन के लिए थानााध्यक्ष नियुक्त किया जाएगा। ताकि ये अन्य छात्राओं के मन से हर प्रकार के डर को बाहर कर सकें और उन्हें सशक्त बना सके। इसी संबंध में डीजीपी ने गाजियाबाद के एसएसपी को लेटर भेजा है। जिसके के आधार पर एसएसपी सुधीर कुमार सिंह(SSP SUDIR KUMAR SINGH) ने एसपी सिटी मनीष मिश्रा से एओए(AOA) के पदाधिकारियों के साथ मिलकर रूपरेखा तैयार करने के दिशा-निर्देश दिए हैं। चयनित छात्राओं को पुलिस की विशेष ट्रेनिंग भी दी जाएगी। एसपी सिटी ने बताया कि योजना के तहत हर सप्ताह या माह में 1 दिन के लिए थाने में प्रभारी की सीट पर छात्रा को बैठाया जाएगा।

virendra sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned