योगी सरकार के इस फरमान से हिल जाएगा पूरा उत्तर प्रदेश, सरकारी कर्मचारियों की होगी छंटनी!

योगी सरकार के इस फरमान से हिल जाएगा पूरा उत्तर प्रदेश, सरकारी कर्मचारियों की होगी छंटनी!
Yogi adityanath

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण तथा दूसरे तमाम सरकारी विभागों में अब पचास साल से ज्यादा उम्र के उन तमाम स्टाफ की छंटनी की तैयार की जाने लगी है।

गाजियाबाद। जहां राज्य सरकार के द्वारा हाल में सरकारी अस्पतालों आदि में सीमित डॉक्टर आदि की कमी को दूर करने के लिए उनकी उम्र सीमा बढ़ा दी, वहीं गाजियाबाद विकास प्राधिकरण तथा दूसरे तमाम सरकारी विभागों में अब पचास साल से ज्यादा उम्र के उन तमाम स्टाफ की छंटनी की तैयार की जाने लगी है। जो अक्सर बीमार रहते हैं अथवा किन्हीं मुकदमों में विचाराधीन है। बीमारी पर इलाज के एवज में सरकारी विभागों को एक बड़ी रकम वहन करनी पड़ रही है। इसके लिए राज्य शासन ने प्राधिकरण समेत तमाम विभाग प्रमुखों से ऐसे तमाम स्टाफ की सूची तलब की है। शासन के नए आदेश के बाद से प्राधिकरण समेत दूसरे तमाम विभागों में खलबली मची हुई है। वह तमाम लोग दुविधा में है जिनके रिटायरमेंट के कुछ साल हैं।

राज्य शासन ने इस कड़ी में तमाम विभाग प्रमुखों से विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। शासन का फरमान आने के बाद से तमाम विभाग प्रमुख विवरण को जुटाने में लग गए हैं। बड़े ही गोपनीय तरीके से सूची को अंतिम रूप दिया जाने लगा है। पता चला कि अनेक सरकारी विभाग ऐसे हैं, जहां पर बहुत से कर्मचारी अक्सर बीमार रहते हैं। बीमारी के चलते अक्सर अवकाश पर रहते हैं। इन कर्मचारियों के अक्सर छुटटी पर रहने के कारण से सरकारी कामकाज प्रभावित हो रहा है। 

माना जा रहा है कि शासन के नए फरमान के बाद ऐसे तमाम स्टाफ की अब छंटनी हो जाएगी। शासन की नई व्यवस्था की गाज किस पर पड़ती है। इसको लेकर अभी से बड़ी संख्या में स्टाफ में भय सताने लगा है। नगर आयुक्त सीपी सिंह ने बताया कि इस तरीके का शासन आदेश मिला है। इसके आधार पर अपने यहां से रिपोर्ट का डाटा तैयार किया जा रहा है। जल्द इसको बना कर उच्चकमान को भेज दिया जाएगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned