किसान आंदोलन को हवा देने पहुंचे ओम प्रकाश चौटाला, बोले- अन्नदाता का हो रहा अपमान

करीब सात महीने से गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहा है धरना प्रदर्शन। चौटाला बोले, हमारी पार्टी हमेशा किसानों के साथ रहेगी।

By: Rahul Chauhan

Published: 21 Jul 2021, 10:48 AM IST

गाजियाबाद। यूपी गेट पर करीब 7 माह से अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन को हवा देने के लिए मंगलवार को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे।जहां पर उन्होंने भाकियू राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से मुलाकात की। राकेश टिकैत से उन्होंने मुलाकात के बाद कुछ देर बंद कमरे में एक गोपनीय बैठक की। इस बैठक में क्या नई नीति पर विचार हुआ, इसकी किसी को भी कोई जानकारी नहीं हो पाई। इस दौरान चौटाला ने मौजूदा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सत्ता गलत हाथों में चली गई है। यह कानून किसान विरोधी कानून है।

यह भी पढ़ें: यूपी के डेढ़ लाख से अधिक शिक्षामित्रों को योगी सरकार का तोहफा, अब ले सकेंगे 11 अवकाश, नहीं कटेगा मानदेय

उन्होंने कहा कि पहले दिन से ही हम लोग इस बात को रख रहे हैं। हरियाणा में विपक्ष मजबूती के साथ किसानों की एक आवाज के साथ खड़ा है। हमारी तो कल भी यही मांग थी और आज भी वही मांगे हैं कि इन कानूनों को निरस्त करा जाए। किसान सर्दी, गर्मी, बरसात सभी मौसम में यहां मौजूद है। किसानों का भारी नुकसान हो रहा है। किसान को एक तरफ अन्नदाता कहा जाता है और इस देश में आजकल अन्नदाताओं का बेहद अपमान भी हो रहा है।

यह भी पढ़ें: IIT की कोचिंग कर रहे युवक ने पिता की लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मारकर किया सुसाइड

ओम प्रकाश चौटाला ने मौजूदा सरकार पर तमाम प्रहार किए। उन्होंने कहा कि सरकार ने जिस तरह क तानाशाही रवैया अख्तियार किया हुआ है, इसका खामियाजा सरकार को आने वाले चुनाव में अवश्य भुगतना पड़ेगा। इनेलो पार्टी हमेशा से ही किसान हितेषी रही है और वह हमेशा किसानों के साथ रहेगी।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned