इंटरनेशनल पावर लिफ्टिंग में भारत का परचम लहराने वाले प्रदीप यादव का जोरदार स्‍वागत

टीम इंडिया की झोली में हैवीवेट पावर लिफ्टर प्रदीप यादव ने डाला सिल्वर मेडल

By: lokesh verma

Published: 11 Dec 2017, 02:04 PM IST

गाजियाबाद. हॉटसिटी गाजियाबाद हमेशा से प्रतिभाओं का धनी रहा है। फिर चाहे वो क्रिकेट, स्वीमिंग, ताई क्वाडो हो या फिर पावर लिफ्टिंग। यहां के खिलाड़ियों ने हमेशा से खुद की प्रतिभा को साबित करते हुए गाजियाबाद को देश-विदेश तक अलग पहचान दी है। पावर लिफ्टिंग के मामले में महानगर की शान को चार चांद लगा चुके हैवीवेट पावर लिफ्टर प्रदीप यादव ने एक बार फिर से एशियन पावर लिफ्टिंग में अपना दबदबा कायम रखते हुए भारत की झोली में सिल्वर मेडल डाला है।

बता दें कि 9 दिसम्बर तक केरला के अलफुजा में एशियन पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप आयोजित की गई थी। इसमें एशियाई देश पाकिस्तान, उज्‍बेकिस्तान मलेशिया, श्रीलंका, भूटान समेत इंडिया के खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया धा। एशियन पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में इंडिया से 18 खिलाड़ियों का चयन किया गया था।

105 किलोग्राम हैवीवेट कैटेगरी में भारत का प्रतिनिधत्व करते हुए प्रदीप यादव ने मुकाबले में विदेशी खिलाड़ियों को जमकर टक्कर दी। प्रदीप यादव ने बताया कि उनकी वेट कैटेगरी में अलग-अलग टाइमिंग के साथ तीन मुकाबले हुए। जिसमें उन्होंने विदेशियों को टक्कर देकर भारत देश के लिए सिल्वर मेडल हासिल किया है। चैम्पियनशिप से वापिस लौटने के बाद कोच और परिवार के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया है।

प्रदीप यादव पुत्र रामभरोसे ने बताया कि वो मेरठ के सुभारती कॉलेज से एचओडी डॉ. संदीप चौधरी के निर्देशन में फिजिकल एजुकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ले रहे हैं। इससे पहले वो 2013, 2014 और 2015 में तीन इंटरनेशनल मुकाबले अपने नाम कर चुके हैं। वे एमएमच कॉलेज के पूर्व छात्र रहे हैं। उनके दादा श्रीराज सिंह दिल्ली पुलिस में दरोगा थे।

इंटरनेशनल खिलाड़ी की मानें तो उनके समय से ही घर में पहलवानी का माहौल था। परिवार के लोगों के शौक से उन्‍हें बढ़ावा मिला, इसके बाद में इसी दिशा में अपना करियर बनाया और अब इंटरनेशनल मुकाबलों में देश और गाजियाबाद का मान बढ़ा रहे हैं।

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned