scriptkisan mahapanchayat on ghazipur border latest news | Farmers Protest : महापंचायत में राकेश टिकैत बोले- एमएसपी पर कानून बनने के बाद ही घर वापसी | Patrika News

Farmers Protest : महापंचायत में राकेश टिकैत बोले- एमएसपी पर कानून बनने के बाद ही घर वापसी

कृषि कानून की वापसी की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) को शुक्रवार 26 नवंबर को एक साल पूरा हो गया। आंदोलन को एक साल पूरा होने पर गाजियाबाद स्थित गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर बड़ी संख्या में किसान पहुंचे। जहां किसानों की महापंचायत का आयोजन किया गया। हालांकि प्रधानमंत्री ने तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा कर चुके हैं, लेकिन इसके किसान घर वापस जाने को तैयार नहीं हैं।

गाज़ियाबाद

Published: November 26, 2021 03:40:11 pm

गाजियाबाद. कृषि कानून की वापसी की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) को शुक्रवार 26 नवंबर को एक साल पूरा हो गया। आंदोलन को एक साल पूरा होने पर गाजियाबाद स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में किसान पहुंचे। जहां किसानों की महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) का आयोजन किया गया। हालांकि प्रधानमंत्री ने तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा कर चुके हैं, लेकिन इसके किसान घर वापस जाने को तैयार नहीं हैं। किसान नेताओं का कहना है कि भले ही प्रधानमंत्री ने तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा की है, लेकिन किसानों की सबसे बड़ी मांग एमएसपी (MSP) पर कानून बनाए जाने की है। इसके अलावा किसानों की और भी कई मांग हैं। सरकार से जब तक इन मुद्दों पर वार्ता नहीं होगी, तब तक घर वापसी नहीं करेंगे।
farmers-protest_1.jpg
इस दौरान भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने साफ कहा कि अभी किसान घर वापसी नहीं करेंगे। क्योंकि सबसे बड़ा मुद्दा किसानों का एमएसपी पर कानून बनाए जाने का है। साथ ही आंदोलन के दौरान जिन किसानों पर मुकदमे दर्ज हुए हैं। वह भी वापस लिए जाएं। इसके अलावा अन्य कई ऐसी मांग हैं, जिन्हें पूरा कराने के लिए आंदोलन अभी जारी रखना पड़ेगा। राकेश टिकैत ने कहा कि ये आंदोलन खेत से संसद की ओर जा रहा है। टिकैत ने कहा कि फसल आधे रेट में बिक रही है। इसलिए हमें एमएसपी पर गारंटी कानून चाहिए। उन्होंने कहा किसान आंदोलन ठीक दिशा में जा रहा है। अब और मजबूती के साथ आंदोलन को आगे बढ़ाएंगे।
यह भी पढ़ें- किसान आंदोलन को एक वर्ष पूरा होने पर भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भाजपा को दी ये चेतावनी

संयुक्त किसान मोर्चा अध्यक्ष बोले- जारी रहेगा आंदोलन

वहीं, संयुक्त किसान मोर्चा के अध्यक्ष जगतार सिंह बाजवा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कृषि कानून वापस लिए जाने की घोषणा अवश्य कर दी है, लेकिन किसानों की अभी तमाम ऐसी मांग हैं, जिन्हें सरकार को बहुत पहले ही पूरा करना चाहिए था। किसानों की उन मांगों पर अभी तक किसी ने ध्यान नहीं दिया है। जगतार सिंह बाजवा ने कहा कि किसानों का यह आंदोलन काफी लंबा चला है और आज इस आंदोलन को एक साल पूरा हो चुका है। अभी तक किसानों की जीत हुई है और आगे भी किसानों की मांग पूरी कराए जाने का प्रयास किया जाएगा। इसलिए आंदोलन अभी जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को यह घोषणा बहुत पहले करनी चाहिए थी। यदि यह घोषणा पहले हो जाती तो शायद अब तक इतने किसान शहीद नहीं होते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.