26 जून से लापता बिल्डर का सुराग नहीं, बरामदगी के लिए परिजन धरने पर बैठे

गाजियाबाद के सिहानी गांव के रहने वाले विक्रम त्यागी का काेई सुराग नहीं लगा पाया है। इतने दिन बाद भी पता नहीं चलने पर अब परिजन धरना देकर बैठ गए हैं।

By: shivmani tyagi

Updated: 24 Jul 2020, 11:09 PM IST

गाजियाबाद ( ghazibad crime news Hindi) थाना सिहानी गेट इलाके में लापता हुए बिल्डर विक्रम त्यागी का काेई सुराग नहीं लगा है। गुरुवार काे उनके परिजनों ने बरमादगी की मांग का लेकर अनशन शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें: अयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन के दिन इस प्रसिद्ध मंदिर में 5100 दीप जलाकर मनाई जाएगी दीपावली

क्रामिक अनशन पर बैठे परिजनाें ने बताया कि, विक्रम त्यागी 26 जून को अपने घर से ऑफिस के लिए निकला था। उस दिन के बाद से आज तक विक्रम काेई सुराग नहीं लग सका है पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली है। पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए परिजनाें ने विक्रम त्यागी के अपहरण की आशंका जताई है। इस मामले में एसएसपी ने थाना सिहानी गेट प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया है लेकिन आज तक विक्रम त्यागी का पता नहीं चलने से परिजन संतुष्ट नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: अवैध शस्तर बनाने वाली फैक्ट्री पर पहुंची पुलिस तो दिखा हैरान करने वाला मंजर

गाजियाबाद के थाना सिहानी गेट इलाके में रहने वाले बिल्डर विक्रम त्यागी संदिग्ध परिस्थितियों में 26 जून को लापता हो गए थे। उनकी गुमशुदगी परिजनों ने थाना सिहानी गेट में दर्ज कराई गई थी। अगले ही दिन उनकी गाड़ी लावारिस हालत में बागपत इलाके में खड़ी मिली थी। गाड़ी में खून के निशान भी पाए गए थे। आनन-फानन में एसएसपी ने इस मामले के खुलासे के लिए कई टीमें गठित की थी। गाड़ी में मिले खून के निशान को डीएनए के लिए भेजा गया था। डीएनए की रिपोर्ट में वह खून के धब्बे विक्रम त्यागी के ही पाए गए लेकिन अभी तक विक्रम त्यागी का कोई अता पता नहीं चला।

यह भी पढ़ें: गजब: नगर पालिका में नहीं मिला सैनिटाइजर तो अधिकारियों के कमरे पर लटका दिया ताला

इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने थाना सिहानी गेट के थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया है। परिजनाे का कहना है कि उन्हे विक्रम त्यागी चाहिए। अपनी इसी मांग और पुलिस कार्यशैली से नाराज होकर विक्रम त्यागी के परिजन गुरुवार काे धरने पर बैठ गए। परिजनाें का कहना है कि, जिस तरह से गाड़ी के अंदर खून पाया गया उससे उन्हे किसी अनहोनी की चिंता है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned