जवान बेटी के साथ मां ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में छोटी बेटी के लिए लिखा ‘मैं तेरी गुनहगार हूं’

पुलिस मामले की जांच में जुटी

By: Iftekhar

Updated: 10 Oct 2018, 08:14 PM IST

गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से घर में जवान बेटी के साथ एक मां की आत्महत्या का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। इस दोहरे आत्महत्या में जो सबसे चौंकाने वाली बात है। वह यह है कि दोनों का शव घर के अंदर एक ही पंखे से लटका मिला। पुलिस को मौका-ए-वारदात से मां की ओर से लिखी गई एक सुसाइड नोट भी मिला है। हालांकि, इस सुसाइड नोट में खुदकुशी की वजह साफ नहीं है। सुसाइड नोट ने पुलिस के लिए आत्महत्या की इस गुत्थी को और उलझा दिया है।

यह भी पढ़ें- घर में खून से लथपथ मिले बसपा के दिवंगत नेता हाजी अलीम की नैया इस बड़े बाहुबली नेता ने थी डूबोई

मां-बेटी की एक साथ खुदकुशी की ये वारदात इंदिरापुरम के न्यायखंड-2 में मंगलवार देर रात की बताई जा रही है। गौरतलब है कि यहां हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के कर्मचारी बलवंत सिंह बिष्ट अपनी 48 वर्षीय पत्नी प्रेमा , बड़ी बेटी दीपा (29) और छोटी बेटी मोनिका उर्फ मोनू (26) के साथ रह रहे थे। बलवंत और उनकी छोटी बेटी मोनिका मंगलवार को ऑफिस गए हुए थे। जानकारी के मुताबिक मोनिका दिल्ली की एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करती है, लिहाजा घर पर बड़ी बेटी दीपा और उसकी मां प्रेमा ही मौजूद थीं।

यह भी पढेंः घर में खून से लथपथ मिले बसपा नेता हाजी अलीम, उनके बेटे अपनी मां की कर चुके हैं हत्या

बताया जाता है कि बलवंत सिंह ने ऑफिस से मंगलवार शाम को पत्नी को फोन किया, लेकिन उनका फोन नहीं उठा। इसके बाद उन्होंने बेटी दीपा को फोन मिलाया तो बेटी ने भी फोन नहीं उठा। इसके कुछ समय बाद बलवंत सिंह ने एक बार फिर दोनों को फोनो मिलाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। कई प्रयास के बाद भी मां-बेटी का फोन नहीं उठा।

यह भी पढ़ेः सटोरियों ने दरोगा के बेटे को पार्टी में जमकर पिलाई शराब, फिर उसके साथ किया यह काम

अपनी ड्यूटी पूरी कर जब रात साढ़े नौ बजे बलवंत घर पहुंचे तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था। बलवंत ने कई बार दरवाजा खटखटाया और आवाज दी। इसके बाद भी जब न तो कोई जवाब मिला और न ही दरवाजा खुला तो उनकी घबराहट बढ़ गई और वह रोने लगे, उनकी आवाज सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर जुट गए। इसके बाद जह बलवंत सिंह ने किसी तरह गेट की जाली काटकर दरवाजा खोला। तो अंदर का माजरा देखकर उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई। अंदर कमरे में उन्होंने देखा कि एक ही पंखे पर उनकी पत्नी और बड़ी बेटी फांसी लगाकर लटकी हुईं थीं। सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इसके बाद मां-बेटी को फांसी से उतारकर अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन अस्पताल में डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चल पाएगा कि मां और बेटी ने कितनी देर पहले फांसी लगाई थी।

यह भी पढ़ें- अब इस परीक्षा का पेपर हुआ लीक, छात्र-छात्राओं का रुख देखकर योगी सरकार में हड़कंप

खुदकुशी की इस वारदात की जांच मेें जुटी पुलिस को मौका-ए-वारदात से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है। इस सुसाइड नोट को मां प्रेमा ने अपनी छोटी बेटी मोनिका के नाम लिखा है। पुलिस के मुताबिक इस सुसाइड नोट में मां ने अपनी छोटी बेटी से माफी मांगी है। साथ ही उसे खुद का ख्याल रखने को कहा है। इस सुसाइड नोट में मां ने अपनी छोटी बेटी मोनू के लिए लिखा है कि ‘मैं तेरी गुनहगार हूं, मुझे माफ कर देना और अपना ख्याल रखना। तुझे छोड़कर नहीं जाना चाहती थी, मगर मजबूर हूं। बेटा किसी अच्छे से लड़के के साथ अपना घर बसा लेना। मैं हमेशा तेरे पास रहूंगी। तुझे मुसीबत से बचाऊंगी। जब भी याद करेगी, मैं तेरे पास आ जाऊंगी। अपना अच्छे से ख्याल रखना। तेरी मम्मी तुझे बहुत प्यार करती है। आइ लव यू सो मच।’

यह भी पढ़ें- मोदीराज में दिवालिया हो चुकी इस कंपनी के 3 डायरेक्टर्स को किया गया गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक इस सुसाइड नोट में कहीं भी खुदकुशी की वजह नहीं लिखी गई है। इसके साथ ही साथ ही सुसाइड नोट में प्रेमा ने केवल अपनी छोटी बेटी का जिक्र किया है, उस में कहीं भी पति का नाम नहीं है। इससे आत्महत्या की ये गुत्थी और उलझ गई है। पुलिस जांच कर ये जानने का प्रयास कर रही है आखिर मां-बेटी के सामने एक साथ ऐसी कौन सी परेशानी आ गई कि दोनों को एक साथ आत्महत्या करनी पड़ी।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned