मुलायम सिंह को इस सीट पर भारी पड़ सकता है मुस्लिम कार्ड

मुलायम सिंह को इस सीट पर भारी पड़ सकता है मुस्लिम कार्ड
mulayam singh yadav

sandeep tomar | Publish: Dec, 30 2016 08:11:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

मुलामय सिंह की गलती का फायदा अगर भाजपा ने उठाया तो जीत उसके खाते में जा सकती है

गाजियाबाद। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने विधानसभा चुनाव के लिए फेरबदल करते हुए 325 प्रत्याशियों की सूची जारी की है। इसमें लोनी में राशिद मलिक को टिकट देकर मुस्लिम कार्ड खेला गया है। अगर बीजेपी ने मदन भैया को एंट्री देकर चुनाव लडाया तो संभव है कि सपा का दाव धरा रह जाए। गुर्जरों की नाराजगी इसकी प्रबल वजह मानी जा रही है।

दरअसल लोनी विधानसभा में पहले सपा ने ईश्वर मावी को टिकट दिया। मावी ने सालभर तक तैयारी करके चुनावी जमीन मजबूत की। लोगों के बीच में पहुंच होने की वजह से सभी लोग आश्वस्त थे कि टिकट नहीं कटेगा। लेकिन ऐन मौके पर समुदाय विशेष को तरजीह मिलने से गुर्जर समुदाय के लोग नाराज हो गया है।

जातिगत समीकरणों ने बदल दिया खेल

लोनी में जातिगत समीकरणों की बात कि जाए तो यहां मुस्लिम वोटर एक लाख से भी अधिक की संख्या में है। वहीं अगर गुर्जर समाज की वास्तविक स्थिति देखें तो करीब 60 हजार मतदाता है। बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी जाकिर अली के खाते में वोटर के जाने के डर से सपा ने तुरंत अपने प्रत्याशी को बदल डाला।

मदन भैया की बीजेपी एंट्री से फेल होगी बसपा सपा

लोनी में बीजेपी मदन भैया पर दाव लगाने की तैयारी कर रही है। भाजपा का मानना है कि किसी भी सूरत में जिताऊं कैडिडेंट पाले में हो ताकि मैदान पर फतह मिल सके। यहां अंदरखाने टिकट के आधार पर पार्टी ज्वाइनिंग की शर्त तय हुई है। मदन भैया का अपना वोट बैंक है। ऐसे में बीजेपी में एंट्री की तो सपा में गुर्जरों की नाराजगी का फायदा मिलेगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned