साहब, जिस दिन से फैक्ट्री में आग लगी, मेरा पति घर नहीं लौटा

हल्दीराम की फैक्ट्री में आग लगने के दिन से ही गायब है सुंदर सिंह राठौर

By: amit2 sharma

Published: 11 Sep 2017, 04:40 PM IST

गाज़ियाबाद. नोएडा की हल्दीराम फैक्ट्री में 6 सितंबर को लगी आग दो दिन बाद ही शांत हो पायी थी. आग लगने के बाद ये प्रशासन ने ये बताते हुए राहत की सांस ली थी कि इस हादसे में किसी की जान नहीं गयी है. लेकिन आग लगने के छह दिन बाद एक महिला पूजा सामने आयी है जिसने कहा है कि जिस दिन हलदरीराम फैक्ट्री में आग लगी थी, उसका पति काम करने आया था, लेकिन अभी तक वापस नहीं लौटा है. 

पूजा की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है.

 

महिला ने क्या कहा

 

अपने पति के गायब होने की रिपोर्ट लिखाने वाली महिला पूजा के मुताबिक़ उसका पति सुंदर सिंह राठौर फैक्ट्री में ठेकेदार के अंदर रहकर सुपरवाइज़र के रूप में काम कर रहा था. घटना के दिन यानी 6 सितंबर को भी वह रोज की तरह काम पर आया था, लेकिन तब से आज तक वापस नहीं लौटा.

 

जानकारी के मुताबिक़ गाजियाबाद के डी 408 प्रताप विहार निवासी सुंदर सिंह राठौर, जो कि यहां ठेकेदार के अंडर सुपरवाइजर के पद पर काम करता था, जिस दिन आग लगी सुबह ड्यूटी पर गया था. उनकी ड्यूटी सुबह 8:00 बजे से रात 8:00 बजे तक होती थी, लेकिन शाम करीब सवा 7:00 बजे फैक्ट्री में भीषण आग लग गई. उसके बाद से ही सुंदर सिंह राठौर का मोबाइल बंद आ रहा है. आग लगने के बाद फैक्ट्री की टेलीफोन लाइन भी सब बंद हो गई थी.

 

आज तक सुंदर सिंह राठौर का कोई अता-पता नहीं

 

पत्नी ने बताया कि काफी तलाश करने के बाद भी सुन्दर सिंह का कोई पता नहीं चला. सुंदर सिंह की पत्नी पूजा ने सुंदर की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई है. सुंदर सिंह राठौर की पत्नी पूजा ने पुलिस से गुहार लगाई है कि पुलिस प्रशासन उनकी मदद करे ताकि सुंदर सिंह कुछ पता चल सके।

सुंदर सिंह मूल रूप से हिमाचल के रहने वाले हैं. करीब 10 साल से ये अपनी पत्नी पूजा 15 वर्षीय बेटी हिमांशी और 13 वर्षीय बेटे के साथ प्रताप विहार रहते हैं और करीब 3 साल से ये नोएडा स्थित हल्दीराम कम्पनी के ठेकेदार के अंडर में सुपरवाइजर के पद पर तैनात हैं. और अब जिस दिन से फैक्ट्री में आग लगी है उस दिन से लापता हैं. लेकिन परिवार सुंदर सिंह राठौर के घर पहुंचने की राह जोह रहा है।

 

हल्दीराम फैक्ट्री में क्या हुआ था

 

गौरतलब है कि 6 सितंबर बुधवार की रात सेक्टर-68 ए-11 स्थित हल्दीराम की फैक्ट्री में भीषण आग लग गई. यहां भूतल पर नमकीन का उत्पादन और प्रथम तल पर पैकेजिंग का काम किया जाता है।यहां काफी मात्रा में गत्ते और प्लास्टिक का सामान पैकेजिंग के लिए रखा हुआ था और वहीं पर नमकीन बनाने के लिए तेल भी रखा था। इसकी वजह से आग ने थोड़ी देर में ही पूरी फैक्ट्री को अपनी चपेट में ले लिया था। फैक्ट्री में आग लगने की ये घटना रात करीब आठ बजे हुई थी । फैक्ट्री में आग लगते ही दमकल विभाग को इसकी सूचना दी गई सूचना पर नोएडा के अलग-अलग अग्निशमन कार्यालय से निकली दमकल की गाड़ियां जाम में फंस गईं। इस वजह से दमकल गाड़ियों को मौके पर पहुंचने में थोड़ी देरी हुई।

 

आग पर काबू पाने के लिए नोएडा, ग्रेटर नोएडा सहित गाजियाबाद से भी दमकल की गाड़ियों को बुलाया गया । सूचना पाकर सिटी मजिस्ट्रेट महेन्द्र कुमार सिंह और जिलाधिकारी बीएन सिंह भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया था । फिलहाल जैसे-जैसे फैक्ट्री में आज की गर्मी कम हो रही है वैसे वैसे ही फैक्ट्री के हर हिस्से को गहनता से चैक किया जा रहा है. क्योंकि एक बड़ा सवाल है कि जब अधिकारी किसी की जानकारी कहानी नहीं बता रहे तो आखिर काफी संख्या में वहां मौजूद स्टाफ कहां लापता हो गया।


आशंका जाहिर की जा रही है कि ऐसे और भी कर्मचारी हो सकते हैं.

amit2 sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned