scriptnoida crime branch disbanded leaving atm thieves with bribes | ATM चोरों को रिश्वत लेकर छोड़ने वाली नोएडा क्राइम ब्रांच भंग, अब दिल्ली पुलिस पर उठे सवाल | Patrika News

ATM चोरों को रिश्वत लेकर छोड़ने वाली नोएडा क्राइम ब्रांच भंग, अब दिल्ली पुलिस पर उठे सवाल

इंदिरापुरम पुलिस ने एटीएम हैक करने वाले गैंग से जब गहन पूछताछ की। इस दौरान बदमाशों ने बताया कि जब भी कोई वारदात करनी होती थी तो उससे पहले वाहन चोरी किया जाता था और वारदात में इस्तेमाल होने वाली चोरी की कारों को दिल्ली पुलिस ही खपाती थी। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस इन बदमाशों से अपना हिस्सा भी लेती थी।

गाज़ियाबाद

Published: December 02, 2021 02:34:28 pm

गाजियाबाद. थाना इंदिरापुरम पुलिस ने एटीएम चोरों से पूछताछ के बाद चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। नोएडा क्राइम ब्रांच टीम पर तो तमाम आरोप लगे हैं। इसके अलावा दिल्ली पुलिस भी सवालों के घेरे में आ गई है। गाजियाबाद पुलिस ने दिल्ली पुलिस के बड़े अधिकारियों को भी इस बारे में अवगत कराया है। इसी खुलासे से नोएडा की क्राइम ब्रांच विवादों के घेरे में आई और एक कॉन्स्टेबल एवं क्राइम ब्रांच टीम के इंस्पेक्टर बर्खास्त कर दिए गए हैं। इसके साथ ही पूरी क्राइम ब्रांच टीम को भंग कर दिया गया है। अब दिल्ली पुलिस के तमाम पुलिसकर्मी भी इस मामले में फंसने वाले हैं।
delhi-police.jpg
इंदिरापुरम पुलिस ने एटीएम हैक करने वाले गैंग से जब गहन पूछताछ की। इस दौरान बदमाशों ने बताया कि जब भी कोई वारदात करनी होती थी तो उससे पहले वाहन चोरी किया जाता था और वारदात में इस्तेमाल होने वाली चोरी की कारों को दिल्ली पुलिस ही खपाती थी। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस इन बदमाशों से अपना हिस्सा भी लेती थी। गाजियाबाद पुलिस के अनुसार, बदमाशों ने गहन पूछताछ में बताया कि दिल्ली के मंडोली के रहने वाला सगीर नाम का बदमाश वाहन चोरी करने में एक्सपर्ट है। अक्सर वही वाहन चोरी किया करता। इतना ही नहीं वाहन चोरी के आरोप में वह कई बार जेल भी गया, जिसके बाद वह वाहन चोरी का मास्टर बन गया।
यह भी पढ़ें- मुआवजे और रोजगार की मांग को लेकर यमुना प्राधिकरण पर किसानों का हल्ला बोल

500 से अधिक कार चोरी कर चुका है सगीर

सगीर अब तक 500 से अधिक कार चोरी कर चुका है। कारों को चुराने के लिए भी सगीर सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करता था। उसके खिलाफ दिल्ली के कई थानों में करीब 28 केस भी दर्ज हैं। सगीर धीरे-धीरे एटीएम हैक करने वाले गैंग से मिल गया। उसके बाद सगीर एटीएम हैक करने वाले गैंग के लिए काम करने लगा और उन्हीं के लिए वह गाड़ी चुराता था। बदमाशों ने बताया कि जब एक ही गाड़ी कई वारदात में इस्तेमाल कर ली जाती थी तो उसके बाद सगीर को दयालपुरी थाने बुलाया जाता था और पुलिस उससे अपना हिस्सा मांगती थी। बड़ी बात यह है कि जो गाड़ी कई वारदात में इस्तेमाल हो जाती थी। उस गाड़ी को पुलिस कहीं बरामदगी दिखाती थी।
दिल्ली पुलिस भी सवालों के घेरे में

पुलिस के मुताबिक, पांचवीं पास सगीर ने विभिन्न प्रदेशों में एटीएम हैकिंग की घटनाओं के साथ दिल्ली से चोरी की कार मुहैया कराने का जिम्मा संभाल लिया था। वह एटीएम हैक करने वाले गैंग का सरगना बन गया था। बहरहाल जिस तरह के खुलासे बदमाशों ने पुलिस के सामने किए हैं। वह वाकई बेहद गंभीर और चौंकाने वाले हैं। निश्चित तौर पर दिल्ली पुलिस भी तमाम सवालों के घेरे में आ गई है। अब यदि दिल्ली पुलिसकर्मियों की गहनता से जांच हुई तो निश्चित तौर पर तमाम पुलिसकर्मियों की मुश्किल खड़ी हो सकती है। उधर गाजियाबाद पुलिस अभी सगीर के अन्य साथियों के बारे में भी गहन पूछताछ में जुटी हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशछत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना से मौत के आंकड़े, 24 घंटे में 5 मरीजों की मौत, 6153 नए संक्रमित मिले, सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दुर्ग मेंयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौती
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.