नार्वे की प्रधानमंत्री अचानक पहुंची यूपी के इस सरकारी स्कूल, व्यवस्था देख रह गर्इं हैरान, देखें वीडियो-

गाजियाबाद के लोनी स्थित निठौरा गांव पहुंची नार्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग

By: lokesh verma

Updated: 07 Jan 2019, 04:17 PM IST

गाजियाबाद. लोनी स्थित निठौरा गांव में आज नार्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग पहुंची हैं। उनकी एक झलक पाने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे। बता दें कि नार्वे यूनिसेफ को शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में चलाई जा रही योजनाओं के लिए फंडिंग करता है। यूनिसेफ की मदद से भारत में भी स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र की कई योजानाएं संचालित की जा रही हैं। इसलिए ही नार्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग भारत के स्कूलों में चल रही योजनाओं का जायजा लेने पहुंची। उनके आने से पहले निठौरा गांव के साथ ही यहां आदर्श प्राथमिक विद्यालय को दुल्हन की तरह सजाया गया था। वे यहां करीब दो घंटे तक रुकी आैर यहां मीना मंच की 20 बालिकाओं से उनके अनुभव व किए गए कार्यों पर बातचीत की। इसके साथ ही यूनिसेफ की ओर से चलाए जा रहे एबीआरसी ऐप की कार्यप्रणाली, ओडीएफ के साथ हाथ धोने के तरीकों पर भी बच्चों से बात की।

यह भी पढ़ें- भीषण सड़क दुर्घटना में भाजपा के वरिष्ठ नेता की मौत, देखें मौत का लाइव वीडियो-

बता दें कि दिल्ली के नजदीक साफ-सुथरे स्कूल के कारण ही इसे चुना गया था। निठौरा गांव में एक ही प्रांगण में प्राथमिक व जूनियर हाई स्कूल दोनों हैं। गत वर्ष प्रशासन ने निठौरा गांव के दोनो स्कूलों को आदर्श स्कूल घोषित किया था, जिसके तहत स्कूल में नया फर्नीचर, साफ स्वच्छ शौचालय, पेयजल के लिए आरओ सिस्टम, पार्क, झूले एवं चारों ओर स्टील की रेलिंग आदि लगवाई गई थीं। नार्वे की प्रधानमंत्री एर्ना भारत में इस बात को देखने के लिए गाजियाबाद के इस प्राथमिक विद्यालय में पहुंची हैं कि यहां पर बच्चे किस तरह से साफ सफाई का ध्यान रखते हैं। उनको किस तरह की जागरुकता दी जाती है और बच्चों में सैनिटेशन को लेकर कितनी जागरुकता फैलाई गई है। कई स्तरीय चाक-चौबंद सुरक्षा इंतजाम इस दौरान यहां किए गए हैं।

यह भी पढ़ें- यूपी के इस शहर में दबंगों ने महिला को दौड़ा-दौड़ाकर इतना पीटा कि सरेआम उतर गए कपड़े, देखें वायरल वीडियो-

प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग सोमवार को स्कूल पहुंची और खुद पूरी जानकारी लेने के साथ मौका मुआयना किया। इस दौरान जिले के एसएसपी और डीएम सहित आला अधिकारी भी यहां मौजूद रहे। नार्वे की प्रधानमंत्री की सुरक्षा को देखते हुए गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती की गर्इ है। जैसे ही अरना सोलबर्ग के आने की खबर आसपास के लोगों को लगी तो भारी संख्या में भीड़ जमा हो गई। हर कोई उनकी एक झलक पाने के लिए बेताव नजर आया। उधर प्रशासनिक अधिकारियों में भी काफी हलचल दिखाई दी और पुलिसकर्मी सुरक्षा की दृष्टि से जगह-जगह दिखाई दिए। बता दें कि उनके आगमन से पहले प्राथमिक विद्यालय निठौरा को दुल्हन की तरह सजाया गया था।

अजब-गजबः ठंड से बचाने के लिए बाबा साहेब की प्रतिमा को पहनाए गर्म कपड़े, भड़का दलित समाज, देखें वीडियो-

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned