Panchayat Election : शराब तस्करों ने ढूंढा तस्करी का नाबाब तरीका, दूध की गाड़ी में मिली 10 लाख की शराब

Panchayat Election के लिए हरियाणा से लाई जा रही 10 लाख रुपए की कीमत की illegal liquor बरामद

By: lokesh verma

Published: 07 Apr 2021, 12:52 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
गाजियाबाद. Panchayat Election आते ही गाजियाबाद में शराब की खपत बढ़ने लगी है। वहीं, शराब तस्कर भी पूरी तरह सक्रिय हो गए हैं। इसी कड़ी में थाना मुरादनगर इलाके में स्थानीय पुलिस और आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने सघन चेकिंग अभियान चलाकर दूध सप्लाई करने वाली एक टाटा 407 गाड़ी को पकड़ा है, जिसमें भारी मात्रा में illegal liquor ले जाई जा रही थी। जिसे चुनाव पंचायत के दौरान इस्तेमाल किया जाना था। गाड़ी से करीब 10 लाख रुपए की हरियाणा मार्का शराब और बीयर का जखीरा बरामद हुआ है। पुलिस ने गाड़ी के चालक को गिरफ्तार किया है। पुलिस की शुरुआती जांच में जो पता चला है कि आबकारी विभाग के एक सिपाही की मिलीभगत से शराब की तस्करी हो रही थी। पुलिस ने आरोपी सिपाही के खिलाफ भी कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ें- गैंगस्टर में वांछित चले रहे दो शराब माफिया गिरफ्तार, अवैध शराब और असलहे भी बरामद

बता दें कि गाजियाबाद में प्रथम चरण में जिला पंचायत और ग्राम पंचायत चुनाव संपन्न होने हैं। इस दौरान कुछ उम्मीदवार अपने मतदाताओं को लुभाने के लिए शराब भी परोसते हैं। वहीं उन उम्मीदवारों को सस्ती शराब मुहैया कराए जाने के लिए शराब तस्कर सक्रिय हो जाते हैं और हरियाणा से शराब की तस्करी कर उन उम्मीदवारों तक पहुंचाते हैं। अब जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है। शराब की खपत बढ़ने लगी है। हालांकि प्रशासनिक अधिकारी जगह-जगह छापेमारी कर बड़ी मात्रा में शराब भी बरामद कर रहे हैं और शराब तस्करों को गिरफ्तार किया जा रहा है। इसी कड़ी में अब शराब तस्करों ने एक नायाब तरीका निकाला। दूध की सप्लाई करने वाली एक टाटा 407 गाड़ी के अंदर ही तहखाना बनाया, जिसके अंदर भारी मात्रा में शराब रखकर हरियाणा से लाई जा रही थी। हालांकि मुखबिर की सूचना पर स्थानीय पुलिस और आबकारी विभाग की टीम ने करीब 10 लाख रुपए की शराब के जखीरे को बरामद कर लिया।

एसपी देहात ने बताया कि थाना मुरादनगर इलाके में दोहई के पास देर रात सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान मुखबिर की सूचना प्राप्त हुई कि एक दूध की सप्लाई करने वाली गाड़ी के जरिए हरियाणा से भारी मात्रा में शराब लाई जा रही है, जिसे पंचायत चुनाव में परोसा जाना है। सूचना के आधार पर गाड़ी को चेक किया गया तो शराब का बड़ा जखीरा बरामद हुआ, जिसकी बाजार में कीमत करीब 10 लाख रुपए आंकी गई है। उन्होंने बताया कि पुलिस की गहन जांच में पता चला है कि यह शराब आबकारी विभाग के एक सिपाही की मिलीभगत से ही लाई जा रही थी। उस आरोपी सिपाही के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है और गाड़ी के चालक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें- नर्स ने अस्पताल के मालिक और कोतवाल पर लगाया रेप का आरोप, बोली- मुंह पर कपड़ा डालकर मारपीट की

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned