ट्रांस हिंडन में घंटों की बिजली कटौती से बेदम हुए लोग

ट्रांस हिंडन में घंटों की बिजली कटौती से बेदम हुए लोग
electricity

राजनीतिक दलों ने 24 घंटे के वादे पर ली योगी सरकार की क्लास

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा जिला मुख्यालयों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति किए जाने के दावे किए जा रहे है। लेकिन जमीनी स्तर पर ये वादे पूरी तरीके से खोखले है। ये ट्रांस हिंडन के वैशाली एरिया में साबित हो गया। रात में वैशाली इलाके की अडरग्राउंड लाइन में फॉल्ट ने वादों की किरकिरी की तो अफसरों ने फोनों को बंद करके बची हुई कसर को भी पूरा कर दिया। इस पर राजनीतिक दलों ने भी भी योगी सरकार के वादों को लेकर जमकर क्लास ले डाली।

बिजली विभाग के सूत्रों ने इस बीच खुलासा किया कि बिजली चोरी पर पर्दा डालने के लिए रोस्टिंग का खेल चल रहा है। विभाग के द्वारा एक वक्त दावा किया गया था कि तमाम ट्रांसफार्मरों पर ऐसे उपकरण लगाए जाएंगे जिससे ये लखनउ तक पता रहेगा कि कितने घंटे की कटौती हुई और कितना लोड मंजूर किया गया है और ट्रांसपफार्मर पर कितना ओवर लोड है,लेकिन ये उपकरण कहां गए कोई बताने की स्थिति में नहीं है।


पावर कॉरपोरेशन मुख्य अभियंता एसके गोयल के मुताबिक वैशाली एरिया में रात में फॉल्ट आ गया था। अलग अलग जगह पर इसी तरीके की समस्या आ रही थी इसके चलते अतिरिक्त शटडाउन लेना पड़ा। लखनऊ से जितनी आपूर्ति हो रही है आगे भी उतनी ही दी जा रही है।

कांग्रेस महानगर अध्यक्ष नरेंद्र भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश में जो योगी सरकार आयी है वह 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने के नाम पर गुमराह कर रही है। अभी तक अधिकारियों पर किसी तरह का नियंत्रण नहीं है। ये भी कोई देखने वाला नहीं है कि किस क्षेत्र में कितने घंटे की कटौती हो रही है और इस कटौती के क्या कारण है।



लोकदल जिलाध्यक्ष तेजराम सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरह से हर मोर्चें पर विफल है। चाहे कानून व्यवस्था का मुददा हो या सडकों को गडढा मुक्त किए जाना और 24 घंटे बिजली आपूर्ति का। 15 जून सिर पर आ गया है, लेकिन अभी तक सडके गडढा मुक्त नहीं हुई है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned