Video बिजली विभाग के निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों ने कैंडल मार्च निकाल कर जताया विरोध

गाजियाबाद ( ghazibad ) बिजली विभाग के निजीकरण के विरोध में बड़ी संख्या में बिजली के कर्मचारियों ने गाजियाबाद के आरडीसी स्थित विद्युत कार्यालय से कवि नगर रामलीला मैदान तक कैंडल मार्च निकाला और निजीकरण के विरोध में सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

By: shivmani tyagi

Updated: 29 Sep 2020, 06:53 PM IST

Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

सभी प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सरकार बिजली विभाग का निजीकरण करने की तैयारी में जुटी हुई है और पूर्वांचल में इस पर कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। धीरे-धीरे सभी जगह निजीकरण किए जाने की तैयारी में है लेकिन सभी बिजली कर्मचारी सरकार के इस फैसले का पुरजोर विरोध कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: मुठभेड़ में गोली लगने से 25 हज़ार का इनामी बदमाश घायल, चोरी और लूट में था वांटेड

बिजली कर्मचारी एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि सरकार और ऊर्जा मंत्रालय के द्वारा विद्युत विभाग को निजीकरण किया जा रहा है। जिसका सभी कर्मचारी पुरजोर विरोध करते हैं। उन्होंने बताया कि निजीकरण होने के बाद से गरीब लोग बिजली नहीं ले पाएंगे क्योंकि जब व्यापारियों के हाथ में विद्युत विभाग आ जाएगा तो निश्चित तौर पर बिजली महंगी होगी। इसके अलावा जो कनेक्शन आज गरीब लोगों को महज 2500 रुपये में मिल रहा है। निजीकरण होने के बाद वह कनेक्शन 20 से 25 हज़ार में गरीब लोगों को मिलेगा और फिर गरीब लोगों की पकड़ से विद्युत कनेक्शन लेना बाहर हो जाएगा। उपभोक्ताओं को भी बिजली महंगी मिलेगी। उधर विद्युत विभाग ने वर्तमान में कार्य कर रहे सभी कर्मचारी बेरोजगार हो जाएंगे। इसलिए सरकार के इस फैसले का विद्युत कर्मचारी जमकर विरोध कर रहे हैं, उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही इनकी मांगे पूरी नहीं की गई तो बड़े स्तर पर आंदोलन चलाया जाएगा और आवश्यकता पड़ी तो सभी कर्मचारी कामकाज ठप करते हुए विद्युत आपूर्ति भी बंद कर देंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned