VIDEO: शस्त्र लाइसेंस बनवाने के शौकीन लोगों के लिए आई बड़ी खबर, पढ़कर भन्ना जाएगा सिर

VIDEO: शस्त्र लाइसेंस बनवाने के शौकीन लोगों के लिए आई बड़ी खबर, पढ़कर भन्ना जाएगा सिर

Rahul Chauhan | Publish: Aug, 13 2019 06:15:47 PM (IST) | Updated: Aug, 13 2019 07:25:09 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

खबर की मुख्य बातें-

-ट्रांसफर अर्जी पर कार्य करते हुए ये बात सामने आई कि लाइसेंस नम्बर ऑनलाइन मैच नहीं कर रहा है

-जिसकी जानकारी गाजियाबाद प्रशासन ने शाहजहांपुर प्रशासन को दी

-पुलिस ने अपने स्तर पर भी जांच शुरू कर दी

गाजियाबाद। पुलिस ने फर्जी तरीके से शस्त्र लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जबकि असलहा विभाग के 2 संविदा कर्मी अभी फरार हैं। दरअसल, फर्जी शस्त्र लाइसेंस की बात पुलिस को तब संज्ञान में आई जब शाहजहांपुर के एक शस्त्र धारक ने गाजियाबाद में अपना शास्त्र ट्रांसफर करने की अर्जी डाली।

यह भी पढ़ें: नो पावर कट जोन होने के बावजूद घंटों गुल रहती है बिजली, हर दूसरे दिन ट्रांसफार्मरों में होते हैं 'धमाके'

ट्रांसफर अर्जी पर कार्य करते हुए ये बात सामने आई कि लाइसेंस नम्बर ऑनलाइन मैच नहीं कर रहा है। जिसकी जानकारी गाजियाबाद प्रशासन ने शाहजहांपुर प्रशासन को दी। साथ ही अपने स्तर पर भी जांच शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया जो शाहजहांपुर में एक संविदा कर्मी जिस पर असलाह बाबू का चार्ज है। उसकी मिली भगत से फर्जी तरीके से लाइसेंस बनाने का काम करता जा रहा था।

बताया जा रहा है कि 2007 में शाहजहांपुर के एक थाने से लाइसेंस रजिस्टर गायब हो गया था। जिसका फायदा उठाकर ये लोग फर्जी लाइसेंस बनवा रहे थे और संविदा कर्मी की मदद से यूनिक आईडी बनवा देते थे। पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि एक लाइसेंस के लिए 2 से 5 लाख रुपये लिया जाता था। जिसमें शास्त्र भी शामिल होता था।

यह भी पढ़ें : काष्ठ नगरी सहारनपुर के इन दस व्यंंजन में से एक भी खा लिया ताे उंगलियां चाटतें रह जाएंगे आप

गिरहों के मुखिया ने बताया कि बिना किसी पुलिस वेरिफिकेशन और फर्जी सिग्नेचर से लाइसेंस बनाये जा रहे थे जिनकी जानकारी शास्त्र धारक को नहीं होती थी। मीडिया को जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी फुरकान, संजय, विनोद, हरिशंकर, सदानंद के कब्जे से 5 असलाह, एक कार और 17 शास्त्र लाइसेंस की छायाप्रति बरामद हुई है। अभी फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। जिनकी गिरफ्तारी के बाद ओर भी कई खुलासे हो सकते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned