पुलिस का भयानक चेहरा आया सामने, आनन-फानन में चौकी इंचार्ज और 3 सिपाहियों को किया गया लाइन हाजिर

पुलिस का भयानक चेहरा आया सामने, आनन-फानन में चौकी इंचार्ज और 3 सिपाहियों को किया गया लाइन हाजिर

Ashutosh Pathak | Updated: 21 Aug 2019, 10:35:05 AM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

  • पुलिस पर शख्स को बुरा तरह पीटने का आरोप
  • इलाके के लोगों ने घंटो थाने के बाहर किया प्रदर्शन
  • एसएसपी ने चौकी इंचार्ज और 3 सिपाहियों पर कार्रवाई

गाजियाबाद। गाजियाबाद में पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया है। पुलिस ने दबंगई दिखाते हुये एक शख्स की जमकर पिटाई की है। बेल्ट और फट्टे से एक शख्स को बुरी तरह पीटा गया। घटना से नाराज पीड़ित और उसके परिवार और गांव वालों ने चौकी का घेराव किया है और जमकर नारेबाजी और हंगामा किया है। हंगामे की सूचना पर मौके पर पहुंचे एसपी देहात ने दोषी चौकी इंचार्ज सहित कुल चौकी इंचार्ज और 3 सिपाहियों सहित कुल 4 पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है।

पीड़ित के शरीर पर मौजूद पिटाई के ये निशान पुलिस की बर्बरता की कहानी को बताने के लिए काफी है। पुलिस के असंवेदनशील चेहरे को सामने लानी वाली यह घटना गाजियाबाद के मोदी नगर थाना क्षेत्र की है। मोदीनगर के सीकरी कला निवासी पीड़ित नीरज कुमार के अनुसार पीड़ित देर रात करीब 12 बजे अपने काम को खत्म कर अपने एक कर्मचारी बुद्धन के साथ पास के फूड प्लाजा पर खाना खाने के लिए आया था। लेकिन जब देर रात के समय वो फूड प्लाजा पर पहुंचा तो फूड प्लाजा बन्द हो चुका था। जिसके बाद वो पास ही खाली जगह पर टॉयलेट करने के लिए चला गया।

जिसके कुछ देर बाद इलाके की शहाब नगर चौकी पर तैनात कुछ पुलिस कर्मी और चौकी इंचार्ज वहां उसके पास आये और उससे पूछताछ करने लगे। जिस पर उसने पास के गांव और खाना खाने के लिए यहां आने की बात कही। लेकिन यहां पहुचे चौकी इंचार्ज ने उससे अपनी कार को छोड़ पुलिस की गाड़ी में चौकी चलने के लिये कहा। जिस पर उसने चौकी सुबह आने की बात कही। जिसके बाद चौकी इंचार्ज और वहां मौजूद पुलिस कर्मी उसे और उसके कर्मचारी को जबरन अपने साथ चौकी ले गये। जहां दोनो से गालीगलौज पुलिस कर्मियों ने की और बेरहमी से पीड़ित नीरज की पिटाई की।

पीड़ित के अनुसार उसे तीन घण्टे तक पुलिस कर्मियों ने थर्ड डिग्री टॉर्चर दिया। बेल्ट के फट्टे से भी बुरी तरह उसकी पिटाई की गयी। जिसके बाद उसे मेडिकल के लिए मोदीनगर अस्पताल लाया गया। वहां से वापिस आकर फिर देर तक उसे पीटा गया और थर्ड डिग्री दी गई। यही नहीं सुबह उसका चालान 151 में कर दिया गया। जहां से जमानत पर छूट पीड़ित ने घटना की जानकारी अपने परिवार और इलाके के लोगों को दी। घटना की जानकारी मिलने पर गुस्साए गांव वालों और परिवार के लोगों ने चौकी का घेराव किया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर हंगामा किया। घटना की जानकारी मिलने पर गाजियाबाद के एसपी देहात नीरज जादौन मोके पर पहुंचे और चौकी का घेराव और नारेबाजी कर रहे लोगों को समझा कर शांत कराया।

घटना की आरंभिक जांच के बाद नीरज कुमार की निर्मम पिटाई के दोषी शहाब नगर चौकी इंचार्ज राजकुमार कुशवाह और 3 दोषी सिपाहियों सहित 4 लोगों को लाइनहाजिर कर दिया गया है। वहीं पूरे मामले की जांच मोदीनगर सीओ से आगे की कार्रवाई। की बात एसपी देहात कह रहे हैं।

घटना ने गाजियाबाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर एक बार फिर गम्भीर सवाल खड़े कर दिये। जिले में बढ़ते क्राइम को कंट्रोल करने में असफल पुलिस शहर के आम और निर्दोष लोगों पर अपनी जोर आजमाइश कर रही है। पीड़ित को बिना कोई ठोस वजह थर्ड डिग्री टॉर्चर लाइनहाजिर किये गए चौकी इंचार्ज और यहां तैनात पुलिस कर्मियों ने दिया । जिससे यहां के लोगों में भारी नाराजगी है। महज लाइनहाजिर करने की कार्यवाही यहां की गयी। जबकि गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई अधिकारियों को करनी चाहिए थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned