पूर्व विधायक ने दस लाख की सुपारी देकर गाजियाबाद में कराई थी भाजपा नेता की हत्या

खोड़ा में भाजपा नेता गजेंद्र की सफेदपोश ने कराई थी हत्या, नाम जानकर आप हो जाएंगे हैरान शार्प शूटर नरेंद्र फौजी गिरफ्तार, पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा ने

By: Iftekhar

Published: 11 Sep 2017, 05:24 PM IST

गाजियाबाद. साहिबाबाद के पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा के PSO नरेंद्र फौजी को पुलिस ने भाजपा नेता की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है। दो सितंबर को गाजियाबाद के खोड़ा इलाके में बीजेपी के नेता गजेंद्र भाटी और बीजेपी नेता प्रदीप चौहान पर फायरिंग कर हमला किया गया था, जिसमें गजेंद्र भाटी की मौत हो गई थी। इस मामले में पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा पर हत्या और हत्या के प्रयास के अलावा साज़िश रचने का मामला दर्ज किया गया था। अब अमरपाल शर्मा के PSO की गिरफ्तारी ने इस बात पर और बल दे दिया है कि अमरपाल शर्मा की भी इसमें मिलीभगत थी। कहा जा रहा है कि अमरपाल शर्मा की गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है। गौरतलब है कि अमरपाल शर्मा को फरार बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक वह अभी फरार है।

फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी करने के बाद अब संत समाज ने ढोंगियों के खिलाफ बोला हल्ला

अमरपाल के PSO को बीजेपी नेता गजेंद्र भाटी की हत्या के मामले में गिरफ्तारी के साथ ही पूर्व विधायक शर्मा पर शिकंजा कसता नजर आ रहा है। 2 सितंबर को गाजियाबाद के खोड़ा इलाके में तो बीजेपी नेताओं पर हमला किया गया था, जिसमें गजेंद्र भाटी की मौत हो गई थी और घायल बलबीर चौहान को अस्पताल में एडमिट कराया गया था। बताया जा रहा था कि अमरपाल शर्मा ने राजनीतिक रंजिश के चलते यह हमला करवाया था। मामले में सीसीटीवी भी सामने आया था, जिसमें दो शार्प शूटर दिखाई दे रहे थे। अब अमरपाल शर्मा के PSO नरेंद्र फौजी को इस में गिरफ्तार किया गया है। नरेंद्र फौजी पर आरोप है कि उसने दिसंबर 2014 में समाजवादी पार्टी के पार्षद प्रदीप चौधरी उर्फ की टीटी की भी हत्या कर दी थी। उस समय भी अमरपाल शर्मा का नाम इस मामले में सामने आया था, लेकिन सबूत नहीं मिल पाए थे। अब एक बार फिर आप अमरपाल शर्मा का नाम सामने आया। हालांकि गजेंद्र भाटी के मामले में अमरपाल शर्मा पर धारा 302, 307 और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया था। इसी बीच सोमवार को नरेंद्र फौजी की गिरफ्तारी ने साफ कर दिया है कि अमरपाल शर्मा इस मामले में पाक साफ नहीं है। पुलिस किसी भी समय अमरपाल शर्मा को गिरफ्तार कर सकती है। पुलिस के मुताबिक नरेंद्र फौजी ने कबूल किया है कि अमरपाल शर्मा की गजेन्द्र भाटी से बहस हुई थी। उसके बाद ये प्लान बनाया गया था।

इस साज़िश में अमरपाल शर्मा, राजू पहलवान, मुकेश उर्फ़ बिट्टू प्रधान शामिल थे। जिनमें से नरेंदर फौर्जी शूटर की गिरफ्तारी हो चुकी है। अब अमरपाल शर्मा को कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है। इस पूरे मामले में दस लाख की सुपारी के लेन-देन की बात सामने आ रही है।इसके साथ ही पिस्टल भी बरामद कर ली गई है। बताया जा रहा है कि शूटर को पचास हज़ार रूपए एड्वांस दिए गए थे। हत्या में नरेंदर के साथ राजू पहलवान साथ गया था।

पार्क में लोगों का का घुट रहा दम, यहां की हालत देखकर कभी नहीं जाना चाहेंगे आप

अमरपाल शर्मा पर मृतक गजेंदर भाटी के भाई योगेन्द्र भाटी ने भी आरोप लगाया था कि पहले से अमरपाल शर्मा का विवाद चल रहा था। राजनीतिक कारण इसके पीछे थे। क्यूंकि खोड़ा नगरपालिका से अमरपाल की पत्नी चुनाव लड़ती है। ऐसे में अमरपाल को ये बात रास नहीं आ रही थी कि गजेंदर भाटी इस बार बीजेपी से प्रमुख दावेदार बने। दरअसल, बीजेपी की जीत के चांस भी ज्यादा थे। अमरपाल बीएसपी छोड़कर जबसे कौंग्रेस में आया था, तब से अमरपाल से लोगों का भरोसा भी कम हुआ था।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned