नशे का कारोबार कर कमाई थी करोड़ों की सपंत्ति, अब चला सीएम योगी का चाबुक

Highlights:

-गलत तरीके से अर्जित की गई संपत्ति पर हो रही कार्रवाई

-लोनी में नशे के कारोबार से अर्जित करोड़ों की संपत्ति कुर्क

-इमारत पर अधिकारियों ने चस्पा किए नोटिस

By: Rahul Chauhan

Published: 07 Mar 2021, 01:25 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के आदेश पर अपराधियों की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई लगातार जारी है। जिसके चलते शनिवार को गाजियाबाद के लोनी इलाके की कासिम विहार कॉलोनी में एक शख्स के द्वारा नशे के कारोबार से अर्जित की गई करोड़ों की संपत्ति को प्रशासनिक अधिकारियों ने कुर्क किया है। इस दौरान तहसीलदार और क्षेत्राधिकारी अतुल कुमार सोनकर के अलावा बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात रहा।

यह भी पढ़ें: कश्मीर में पहली बार लगेगी बाबा साहब अंबेडकर की प्रतिमा, देश के कोने-कोने से पानी मंगाकर हुआ जलाभिषेक

दरअसल, कुर्क की गई इमारत के चारों तरफ बाकायदा पोस्टर चस्पा किए गए हैं। जिस पर लिखा गया है कि यह संपत्ति अपर जिलाधिकारी नगर जनपद गाजियाबाद द्वारा वाद संख्या 3570 / 2020 राज्य बनाम जाकिर में दिए गए निर्णय के अनुसार उत्तर प्रदेश के गिरहोबन्द एवं असामाजिक क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की धारा 14 1 के अंतर्गत जाकिर पठान व उसकी पत्नी अजमेरी निवासी बंगाली मस्जिद के पास कासिम विहार थाना ट्रॉनिका सिटी गाजियाबाद की निम्नांकित अचल संपत्ति राज्य सरकार के हित में पूर्व की जा चुकी है। अब यह संपत्ति राज्य सरकार के अधीन है। इस संपत्ति का अगर किसी के द्वारा क्रय विक्रय या निर्माण किया जाता है तो अवैध मानते हुए संबंधित के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

यह भी देखें: सिटी मजिस्ट्रेट ने चलाया प्लास्टिक पर चेकिंग अभियान

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए क्षेत्राधिकारी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि लोनी के कासिम विहार में जाकिर और उसकी पत्नी के खिलाफ अवैध क्रियाकलाप के द्वारा संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज था। तमाम गहन जांच के बाद जिलाधिकारी नगर के आदेश पर लोनी के कासिम विहार में रहने वाली अजमेरी और उसके पति जाकिर की करोड़ों रुपए की संपत्ति कुर्क की गई है। अग्रिम वैधानिक कार्रवाई जारी है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned