ऑनलाइन शॉपिंग में बरतें ये सावधानी, गायब हो सकता है आपका बैलेंस

ऑनलाइन शॉपिंग में बरतें ये सावधानी, गायब हो सकता है आपका बैलेंस
online shopping

sandeep tomar | Publish: Dec, 24 2016 04:37:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

स्वाईप मशीनों का डाटा बैंकों से नहीं हो रहा अपलोड

गाजियाबाद। अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो थोड़ी सावधानी बरते हुए अपने सामान का आर्डर करें। क्योंकि अगर आपके एकाउंट से रुपये गायब होते हैं तो साइबर सेल भी अभी बैलेंस को वापस लाने में भी सक्षम नहीं होगी। क्योंकि अभी तक स्वाईप मशीनों का डाटा बैंकों द्वारा अपलोड नहीं किया गया है। इसकी वजह से जब बैलेंस की ट्रेसिंग की जा रही है तो पुलिस के हाथ कुछ भी नहीं लग रहा है। पुलिस एक्सपर्ट्स का दावा है कि डाटा अपलोडिंग न होने पर बैंक एकाउंट ट्रांजेक्शन के तौर पर सिर्फ एक नम्बर दिखाई देता है। इसकी वजह से खरीदारी की जगह का पता नहीं चल पा रहा है।

एक महीने में 90 से अधिक मामले आए सामने

नोटबंदी के बाद में लोग कैशलेस ट्रांजेक्शन की तरफ बढ़े हैं। शॉपिंग हो या खाना इसके लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जा रहा है। शापिंग साइट्स के मकड़जाल में लोग ठगी का शिकार हो रहे है। साइबर सेल के मुताबिक एक महीने में 90 से अधिक मामले सामने आए है। हर रोज तीन मामलें अलग किस्म की ठगी के आते हैं। ऑनलाइन ठगी को रोकने के लिए पुलिस की तरफ से बैंकों को लेटर भी लिखा गया है।

साइबर सेल का कहना

साइबर सेल प्रभारी ने बताया कि वर्तमान में जब किसी मामले की जांच की जाती है तो वहां पीओएस लिखकर एटीएम कार्ड और 8-9 डिजिट का नंबर लिखा आता है। इससे यह भी पता नहीं चल पाता कि पैसे किसके माध्यम से कहां गए। यानी कार्ड के माध्यम से शॉपिंग कहां हुई, यह जानकारी नहीं मिलती। इससे कैश ट्रांजेक्शन नहीं रुक पाती। हम बैंक से संपर्क करते हैं तो बैंक भी तुरंत नहीं बता पाता कि संबंधित स्वाईप मशीन कहां लगी है। यानी कार्ड कहां स्वाईप किया गया है। जिससे ट्रांजैक्शन ब्रेक नहीं हो पा रही है।

ठगी से बचने के लिए ऐसे बरतें सावधानी

- केवल विश्वसनीय दुकान/शोरूम से ही ई शॉपिंग करें

- कार्ड स्वाईप के दौरान ध्यान रखें कि कोई आपका पिन नंबर न देख रहा हो

- जिस जगह आपका कार्ड स्वाईप हो रहा है, वहां कोई कैमरा तो नहीं लगा हुआ है

- अपना डेबिट/क्रेडिट कार्ड किसी को भी न दें, न ही पिन नंबर बताएं
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned